8-8 साल कठोर कारावास:दीप्ति गैंग ने सेठी गैंग के पार्किंग ठेकेदार पर चलाई थीं गोलियां, राहगीर के पैर में लगी

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोर्ट ने सुनाई सजा - Dainik Bhaskar
कोर्ट ने सुनाई सजा

कोर्ट ने 2 पर लगाया 20-20 हजार और एक पर 30 हजार रुपए का जुर्माना, नहीं भरने पर छह माह की अतिरिक्त सजा काटनी होगी

करीब साढ़े छह साल पहले कोर्ट परिसर के बाहर पार्किंग ठेकेदार संदीप डूडी पर गोलियां चलाकर हत्या का प्रयास करने के मामले में एडीएसजे वीपी सिरोही की अदालत ने तीन दोषियों को 8-8 साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है। इन तीन दोषियों में से सीसवाल वासी अंकित पर 30 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। गंगवा वासी अजमेर उर्फ डीजल और सोनू उर्फ अशोक पर 20-20 हजार रुपए जुर्माना भरने की भी सजा सुनाई है। इस मामले में अंकित को शस्त्र अधिनियम में भी दोषी ठहराया है।

पुलिस जांच में सामने आया था कि ठेकेदार संदीप डूडी बदमाश सेठी गैंग से जुड़ा हुआ था, जिस पर दीप्ति गैंग से जुड़े झिड़ी वासी संदीप गोदारा की हत्या का बदला लेने के लिए गुर्गों द्वारा डूडी पर गोलियां चली थीं। हालांकि डूडी बाल-बाल बच गया था लेकिन वहां से गुजर रहे फिजियोथैरेपिस्ट के पैर में एक गोली लगने से वह घायल हो गया था।

हमलावरों में से एक आरोपी को लोगों की मदद से पुलिसकर्मियों ने काबू कर लिया था। कोर्ट में परिसर की पार्किंग में ठेकेदार की हत्या के लिए अंकित सहित एक अन्य शूटर आया था लेकिन दोनों नये थे और डूडी को नहीं पहचानते थे। इसलिए इनकी मदद के लिए गंगवा निवासी सोनू और अजमेर उर्फ डीजल को भेजा गया था।

अदालत में चले अभियोग के अनुसार पार्किंग ठेकेदार संदीप डूडी की शिकायत पर 18 मार्च 2016 को हत्या के प्रयास, शस्त्र अधिनियम सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ था। डूडी अपने साथियों के साथ पार्किंग में बैठा हुआ था। तब 2 युवक वहां घूमते नजर आए थे। इनकी गतिविधियां संदिग्ध लगने पर डूडी ने उन्हें टोक दिया था।

एक सीसवाल वासी अंकित दीवार फांदकर मेन रोड पर आकर ऑटो रिक्शा में बैठ गया था। इसकी पीछा करके ऑटो रिक्शा को रुकवा लिया था। तब अंकित ने नीचे उतरकर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी थीं। इसके अन्य साथी भाग गए थे। गोलियां चलने पर संदीप डूडी ने खुद का बचाव किया था मगर वहां से गुजर रहे फिजियोथैरेपिस्ट के पैर में एक गोली लग गई थी। तब लोगों की मदद से अंकित को काबू करके पुलिस के सुपुर्द कर दिया था।

बता दें कि दीप्ति सीसवाल और सेठी गैंग के बीच गैंगवार चल रही है। इस गैंगवार में बदमाश किशोरी और संदीप गोदारा की हत्या तक हो चुकी है। पुलिस जांच में सामने आया था कि संदीप गोदारा बदमाश दीप्ति गैंग से जुड़ा हुआ था। इसके कारण सेठी गैंग से जुड़े पार्किंग ठेकेदार संदीप डूडी को ठिकाने लगाने की साजिश रची गई थी।

खबरें और भी हैं...