बढ़ी चुनौती / पीपीई किट से डिहाइड्रेशन का अटैक: फ्लू क्लीनिक में डॉक्टर का चकराया सिर, एलटी की बिगड़ी हालत

Dehydration attack with PPE kit: doc head of doctor in flu clinic, LT condition deteriorated
X
Dehydration attack with PPE kit: doc head of doctor in flu clinic, LT condition deteriorated

  • पारा बढ़ने के साथ फ्रंटलाइन कोरोना वाॅरियर्स की बढ़ी चुनौती

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 05:00 AM IST

हिसार. कोरोना को हराने में जुटे योद्धाओं के लिए पीपीई किट पहनकर काम करना और भी मुश्किल होता जा रहा है। गर्मी का सितम और पीपीई किट पहनने पर सिर से पैरों तक बहता पसीना डिहाइड्रेशन का कारण बन रहा है। फ्लू क्लीनिक में सैंपलिंग के दौरान एक महिला डॉक्टर का सिर चकराने लगा। वहां मौजूद स्टाफ ने उन्हें संभाला, पानी का सेवन करवाया। तब थोड़ी राहत मिली। वहीं, हांसी में सैंपलिंग के दौरान एलटी अमित की हालत बिगड़ गई। गर्मी को सहन नहीं कर पाए।

ऐसे में 30 सैंपल लेने थे मगर 28 सैंपल लेकर काम बंद करना पड़ा। एलटी का तुरंत उपचार करवाया। उसे पानी पिलाया। इससे पूर्व डेंटिस्ट डॉ. पुलकित बडाला गांव में डिहाइड्रेशन का शिकार हो चुके हैं। लगातार कई घंटों तक उन्होंने पीपीई किट पहनकर काम किया था। इससे शरीर में पानी की कमी होने से सेहत बिगड़ गई थी।

ओआरएस के पैकेट साथ रखें, पानी का सेवन करें: डॉ. गोयल
डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. जया गोयल ने स्टाफ को निर्देश दिए कि पीपीई किट में हवा पास नहीं होती है। यह वायरस से बचाव करती है मगर काम के साथ सेहत का ध्यान रखना है। यह चुनौतीपूर्ण काम है मगर कोरोना पर नियंत्रण के लिए हर संभव प्रयास जरूरी है।
इसलिए पीपीई किट पहनने से पहले पानी का सेवन करें। जरूरत पड़ने पर ओआरएस के पैकेट साथ रखें, जिसकी सेवन करने के बाद सैंपलिंग व एक्टिव सर्विलांस करें। डॉ. गोयल ने टीम को सुबह व शाम के वक्त ज्यादा सैंपलिंग के लिए कहा है। तब गर्मी का असर कम होता है।



आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना