राम रहीम को फर्जी बताने वाले को मिली जमानत:डेरा प्रेमियों की धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप; सुनवाई 5 दिसंबर को

हिसार13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के बरनावा आश्रम में पैरोल काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को नकली बताने वाले डेरा प्रेमी मोहित इंसा को गुरुवार को सिरसा कोर्ट ने अंतरिम जमानत दे दी। मामले की अगली सुनवाई अब 5 दिसंबर तय की है। इससे पहले कोर्ट ने बुधवार को मोहित इंसा की जमानत याचिका पर सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था।

5 के खिलाफ था केस

राम रहीम के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करने पर प्रेमियों के एक धड़े ने दूसरे धड़े के खिलाफ धार्मिक भावनाएं आहत करने का मामला दर्ज करवाया था। यह मामला डेरा प्रेमी दिल्ली निवासी नितिन शर्मा ने करवाया है। दिल्ली निवासी नितिन शर्मा ने सिरसा पुलिस को शिकायत दी थी कि मोहित गुप्ता निवासी बी-14 शाह सतनाम जी नगर बेगू रोड सिरसा ने अपना यूट्यूब चैनल बना रखा है।

यूट्यूब चैनल पर बोले अपशब्द

चैनल पर रवि लड्डा रानियां ,संजीव झा, वीरपाल कौर वासी बठिंडा व अशोक कुमार मालिया कॉलोनी निवासी चंडीगढ़ यूट्यूब चैनल पर डेरा प्रमुख व डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों को गाली निकालते हैं। जिससे कि उनकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई है।

मोहित इंसा
मोहित इंसा

जून 2022 में दर्ज हुआ केस

नितिन शर्मा ने अपनी शिकायत में कहा कि 17 जून 2022 को राम रहीम की पैरोल पर बाहर आने के बाद फेथ वर्सेज वर्डिक ने डेरा मुखी के प्रति अपशब्दों का प्रयोग किया। साथ ही असली व नकली होने की आधारहीन याचिका को भी पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट खारिज कर चुका है। आरोपी देश विरोधी गतिविधियां चला रहे हैं। डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाते हैं, जिसके संबंध में शहर थाना सिरसा में दर्ज किया है।