• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Dhaba, Parking And Tea Stalls Were Kept In The Green Belt Under The Dabra Chowk Bridge, The Corporation's Team Did The Goods

नगर निगम की सख्ती:डाबड़ा चाैक पुल के नीचे ग्रीन बेल्ट में ढाबा, पार्किंग और चाय के खाेखे बना कर रखे थे कब्जे, निगम की टीम ने सामान किया

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अतिक्रमण पर कार्रवाई... डाबड़ा पुल के नीचे बैंच को उठाकर ले जाते हुए नगर निगम कर्मचारी। सड़क पर रखे पत्थर हटाए गए। - Dainik Bhaskar
अतिक्रमण पर कार्रवाई... डाबड़ा पुल के नीचे बैंच को उठाकर ले जाते हुए नगर निगम कर्मचारी। सड़क पर रखे पत्थर हटाए गए।
  • नगर निगम कमिश्नर ने कुछ दिन पहले डाबड़ा पुल के नीचे पैदल दौरा कर खुद देखे थे अतिक्रमण के हालात
  • अधिकारियाें की दाे टूक - दाे दिन में हटा लें अतिक्रमण नहीं तो ताेड़े जाएंगे निर्माण

डाबड़ा चाैक के नीचे अतिक्रमण कर अवैध तरीके से चल रही पार्किंग, ढाबा और चाय वालाें द्वारा किए गए कब्जे गुरुवार काे हटवाए गए। नगर निगम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इन सभी अतिक्रमण करने वालाें का सामान कब्जे में ले लिया। हालांकि कार्रवाई से पहले निगम टीम ने इन सभी काे 15 मिनट का समय दिया और कहा कि जाे भी दुकानदार अपना सामान उठाना चाहता है ताे उठा सकता है। इसके बाद निगम टीम इसे कब्जे में ले लेगी।

टीम के जाने से पहले ही कब्जाधारियाें ने काफी सामान पहले ही माैका स्थल से कहीं दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया था। टीम द्वारा दिए समय के बाद भी लाेग सामान नहीं हटा पाए। इसके बाद टीम ने मौके से कुर्सियां, गैस सिलेंडर, टेबल, मेज, गद्दे सहित अन्य सामान जब्त कर लिया।

वहीं स्थायी रूप से अतिक्रमण करने वालों को अतिक्रमण हटाने के लिए दो दिन का समय दिया। टीम ने अतिक्रमण हटाने के बाद पूरे एरिया की सफाई करवा दी। बता दें कि 25 नवंबर को निगमायुक्त अशोक गर्ग ने खुद मौके का निरीक्षण किया था। माैके पर उन्हें हालात ठीक नहीं मिले। निरीक्षण के बाद उन्होंने तहबाजारी टीम को अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए थे।

पढ़िए.. लाइव रिपाेर्ट : दाे घंटे लगे टीम काे, जाने से पहले ही कर दिया था थाने में फाेन
अतिक्रमण हटाने वाली टीम सुबह करीब साढ़े 10 बजे तहबाजारी टीम इंचार्ज सुरेंद्र वर्मा के नेतृत्व में डाबड़ा चौक पुल के नीचे पहुंची। सीएसआई सुभाष सैनी भी साथ थे। टीम ने पहुंचने से पहले थाने में काॅल की और माैका स्थिति देखकर तुरंत पुलिस सहायता की बात कही।

थाने से आश्वासन के बाद टीम ने पहुंचकर अतिक्रमण करने वालाें काे 15 मिनट का समय दिया। जब चेतावनी के बाद भी सामान नहीं हटाया तो टीम ने सामान उठाना शुरू कर दिया। इस दौरान रेहड़ी वालों की ग्राहकों के लिए रखी कुर्सियों को जब्त कर लिया। रेडक्रॉस में पार्किंग लेने वाले ठेकेदार ने पुल के नीचे तारबंदी की हुई थी, जिसे निगम कर्मचारियों ने उखाड़ दिया। इस दौरान एक दुकानदार द्वारा किए अवैध निर्माण को तोड़ दिया। दुकानों के बाहर रखे उनके सामान को अंदर करवा दिया। टीम ने शेड व खोखे रखकर स्थायी अतिक्रमण करने वालों को अतिक्रमण हटाने के लिए दो दिन का अल्टीमेटम दिया है। करीब साढ़े 12 बजे टीम वहां से लौट आई।

जानिए... निगम कमिश्नर की प्लानिंग
नगर निगम कमिश्नर अशाेक कुमार गर्ग का कहना है कि निगम की प्लानिंग है कि यहां शेल्टर हाेम बनाया जाए। जब उन्हाेंने माैका निरीक्षण किया था और वहां माैजूद लाेगाें से बातचीत की थी ताे बीमार लाेगाें के साथ आने वाले उनके परिजनाें ने अपनी पीड़ा बताई। मरीजाें के साथ आने वाले लाेग रहने के लिए दिक्कत आती है। गर्ग ने बताया कि टीम लगातार यहां निरीक्षण करेगी, ताकि यहां दोबारा से अतिक्रमण न किया जा सके। कमिश्नर ने कहा कि वे खुद भी दाेबारा माैका निरीक्षण करेंगे।

पुल के नीचे से अस्थायी अतिक्रमण हटवा दिया है। स्थायी अतिक्रमण हटाने के लिए दो दिन का समय दिया है। अगर नहीं हटाया गया तो निगम खुद ही इन्हें हटाएगा।'' -सुरेंद्र वर्मा, इंचार्ज, तहबाजारी शाखा, नगर निगम।
​​​​​​​

खबरें और भी हैं...