पटाखे बने विवाद का कारण:सातरोड़, उकलाना और पटेल नगर में मारपीट में कई घायल, दो पक्षों में चली कुल्हाड़ी

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

एनजीटी के प्रतिबंध के बावजूद जिले में पटाखे बिके भी और जमकर आतिशबाजी भी हुई। आतिशबाजी के कारण प्रदूषण लेवल खतरनाक स्तर तक पहुंचा और साथ ही कई जगह विवाद का कारण भी बना। सातरोड में पटाखे जलाने को लेकर हुए विवाद में दो पक्षों में कुल्हाड़ी चली और कई लोग घायल हो गए।

सातरोड निवासी दीपक ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ रात को गली में दिवाली की पूजा कर रहा था। उसी दौरान पड़ोसियों ने उन पर हमला कर दिया। दीपक के अनुसार उनके पड़ोसी बृह्मानंद, दीपक और कृष्ण आदि ने उसके सिर में कुल्हाड़ी मारकर व उसके भाई संदीप व भाभी नीरू को घायल कर दिया। इसी मामले में बृह्मानंद ने बताया कि दीपक और उसके बच्चे गली में पटाखे जलाकर उनकी भैंसों की ओर फेंक रहे थे। जब उन्होंने ऐसा करने से रोका तो दीपक और उसके परिवार के लोग उनसे गाली-गलौज करने लगे और मारपीट पर उतारु हो गए। इसके बाद दोनों पक्षों में विवाद हो गया व आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और उसकी बाइक भी तोड़ दी।

उकलाना के खैरी गांव निवासी 32 साल के सतीश ने बताया कि दिवाली की रात को उनके पड़ोसी नन्हा और रामलाल के बच्चे गली में पटाखे चला रहे थे। उन्हीं बच्चों में से एक ने उसकी बुजूर्ग मां की तरफ पटाखा फेंक दिया। इस बात को लेकर उसने बच्चों को डांटा तो उनके परिवार वालों ने लोहे की पाइप से हमला कर उसे घायल कर दिया।

पटेल नगर वासी हरीश ने बताया कि उनकी गली में पड़ोसियों के बच्चे पटाखे चला रहे थे जिस कारण से उन्हें परेशानी हो रही थी। जब उसने बच्चों को रोका तो पड़ोसी राजकुमार और उसकी पत्नी पिंकी ने उस पर हमला कर दिया और मुक्के मारकर उसे घायल कर दिया। घायल हरीश को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।