पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Even After 48 Hours, The Family Did Not Pick Up The Dead Body, The Day After The Talks With The Officers, The Families Reached The SP At 9 Pm

पुलिस की हिरासत में तबीयत बिगड़ने से मौत मामला:48 घंटे बाद भी परिजनों ने नहीं उठाया शव, दिनभर अफसरों के साथ मांगों पर हुई वार्ता रात 9 बजे एसपी से मिलने पहुंचे परिजन

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मय्यड़ में धरना स्थल पर जिला प्रशासनिक अधिकारी को मांग पत्र सौंपते हुए मृतक अमित के परिजन, ग्रामीण व अन्य।
  • 20 लाख रुपए मुआवजा और एसआईटी गठित करने व आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग

अग्रोहा पुलिस की हिरासत में तबीयत बिगड़ने के बाद अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान युवक अमित की हुई मौत के 48 घंटे बाद भी शव को परिजनों ने नहीं उठाया। मय्यड़ स्थित धरना स्थल पर दिनभर परिजनों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों की मांगों को लेकर बातचीत जारी रही। डीसी-एसपी ने मांगों को लेकर अधिकारियों से विचार-विमर्श किया। नायब तहसीलदार के जरिए डीसी तक मांग पत्र पहुंचाया गया। उसमें परिवार को 20 लाख रुपये मुआवजा, पुलिस कर्मियों के खिलाफ केस दर्ज करके एसआईटी गठित करने की मांग की।

मृतक के परिजनों ने स्पष्ट किया कि जब तक मांगें पूरा नहीं होंगी, न पोस्टमार्टम करवाएंगे, न ही शव उठाएंगे। मृतक के परिजनों ने देर शाम को एसपी गंगाराम पुनिया से कैंप ऑफिस में मुलाकात की। परिजनों ने मांग करते हुए कहा कि अमित को घर से लेकर जाने वाले 4 पुलिसकर्मियों और लड़की के मामा-ताऊ के विरुद्ध हत्या व एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया जाए। निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी गठित हो। एसपी ने आश्वासन दिया कि मामले की निष्पक्ष जांच होगी। कानून के दायरे में रहकर की जाएगी। वहीं, इस मामले में डीसी डॉ. प्रियंका सोनी का कहना है कि हम मृतक के परिजनों से बात कर रहे हैं। उनकी मांगों पर वार्ता जारी है।

यह है मामला
6 अगस्त को अग्रोहा के एक गांव की महिला ने पुलिस को शिकायत में बताया था कि 16 साल की दोहती मेरे पास रहती थी। वह 5 अगस्त की रात 1 बजे घर से चली गई। उसे तलाश किया लेकिन पता नहीं चला। पुलिस ने जांच में पाया कि लड़की मय्यड़ में अमित के घर है। पुलिस टीम ने अमित घर दबिश देकर उसे पकड़कर लड़की को बरामद किया था। लड़की का मामा व ताऊ भी साथ आए थे। अमित को हिरासत में लेकर अग्रोहा थाना में लेकर गई थी।

मृतक के चाचा रामनिवास ने बताया था कि हम भी पीछे-पीछे थाने गए थे। वहां लड़की ने कह दिया था कि मैं अपनी मर्जी से गई थी। ऐसे में वहां पर मामला रफा-दफा हो गया था लेकिन अमित की तबीयत बिगड़ गई थी। पुलिस के कहने पर तुरंत अग्रोहा मेडिकल काॅलेज में दाखिल करवाया था। संदिग्ध जहरीला पदार्थ निगलने की बात सामने आई थी। रामनिवास ने कहा था अमित जब घर से गया था उसकी जेब खाली थी। वह गोलियां कैसे खा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें