एचएसबी और ईसीई डिपार्टमेंट की विजिट:एचएसबी और ईसीई डिपार्टमेंट की फैकल्टी ने एनबीए कमेटी के सामने ऑनलाइन दी प्रजेंटेशन

हिसार19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जीजेयू में विजिट करते एनबीए टीम के मेंबर व साथ में हैं जीजेयू वीसी प्राे. बीआर काम्बाेज। - Dainik Bhaskar
जीजेयू में विजिट करते एनबीए टीम के मेंबर व साथ में हैं जीजेयू वीसी प्राे. बीआर काम्बाेज।
  • एनबीए टीम मेंबर ने की जीजेयू के एचएसबी और ईसीई डिपार्टमेंट की विजिट

जीजेयू में एचएसबी और ईसीई डिपार्टमेंट की रैंकिंग के लिए नेशनल बाेर्ड ऑफ एक्रीडेशन की टीम शुक्रवार काे यूनिवर्सिटी पहुंची। इस दाैरान कांफ्रेंस हाॅल में एनबीए टीम के समक्ष एचएसबी और ईसीई विभाग के डीन व शिक्षकाें ने अपनी प्रजेंटेंशन दी। एनबीए की टीम के अन्य सदस्याें ने ऑनलाइन फैकल्टी व शिक्षकाें के साथ भी इंटरेक्शन किया।

इस माैके पर विवि के कुलपति प्राे. बीआर काम्बाेज भी उपस्थित रहे। टीम ने एचएसबी और ईसीई की बिल्डिंग के अलावा लाइब्रेरी, ऑडिटाेरियम की भी विजिट की है। एनबीए का निरीक्षण कुल 1000 अंकाें का हाेगा, इसमें ए ग्रेड के लिए 600 अंक हाेना जरुरी है। जिसमें फैकल्टी के 220 अंक हैं, इसके बाद इंडस्ट्रीज एवं इंटरनेशनल काॅनेक्ट के लिए 130 अंक रखे गए हैं।

एचएसबी: तीन साल में 400 रिसर्च पेपर प्रस्तुत एचएसबी ने बीते तीन साल में 400 रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए हैं। अब तक एचएसबी द्वारा 1500 रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए गए हैं। एचएसबी के पास 33 शिक्षकाें की फैकल्टी है, इनमें से 32 पीएचडी हैं। सबसे ज्यादा 220 अंक फैकल्टी के हैं।

एचएसबी व ईसीई ने पहली बार किया आवेदन

एचएसबी व ईसीई द्वारा पहली बार एनबीए रैंकिंग के लिए आवेदन किया है। एआईसीटीई से संबंद्ध मैनेजमेंट और इंजीनियरिंग काेर्सिस वाले संस्थान रैंकिंग के लिए आवेदन कर सकते हैं। विवि के कंप्यूटर साइंस विभाग के पास पहले से एनबीए रैंकिंग है। एनबीए रैंकिंग के जरिए विदेशी संस्थानाें में भी यूनिवर्सिटी की डिग्री की महत्वता बढ़ेगी। देश या विदेश के बड़े संस्थानाें में यहां से पासआउट हाेकर जाने वाले विद्यार्थियाें काे सहायता मिलेगी।

खबरें और भी हैं...