सिरसा में राकेश टिकैत का बड़ा हमला:बोले- बीजेपी से खतरनाक नहीं कोई पार्टी, UP चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू लीडर की होगी हत्या

हिसार9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा में जनसभा स्थल पर मंच पर बैठे राकेश टिकैत। - Dainik Bhaskar
सिरसा में जनसभा स्थल पर मंच पर बैठे राकेश टिकैत।

सिरसा में किसान सम्मेलन में पहुंचे राकेश टिकैत ने भाजपा सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। टिकैत ने कहा कि यूपी चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू लीडर की हत्या होगी। इनसे बचकर रहना। ये किसी बड़े हिंदू लीडर की हत्या करवाकर देश में हिंदू-मुसलमान करके चुनाव जीतना चाहते हैं। इनसे खतरनाक पार्टी कोई दूसरी नहीं है। जिन लोगों की भाजपा थी, उन नेताओं को भी घरों में कैद किया हुआ है।

देश पर 'सरकारी तालिबानियों' का कब्जा
टिकैत ने कहा कि इस देश पर 'सरकारी तालिबानियों' का कब्जा हो चुका है। जिस SDM ने किसानों पर लाठियां चलवाई उसका चाचा RSS में बड़े ओहदे पर है। इन सरकारी तालिबानियों का पहला कमांडर करनाल में मिल चुका है। अगर ये हमें खालिस्तानी कहेंगे तो हम इनको तालिबानी कहेंगे।

प्रधानमंत्री पर भी बरसे टिकैत
टिकैत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी हो जाएगी। अगर ऐसा नहीं हुआ, उनकी फसलें दोगुने रेट पर नहीं बिकी तो पूरे देश को पता लग जाएगा कि देश का प्रधानमंत्री झूठ बोलता है। इसके अलावा टिकैत ने सरकारी नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश की बड़ी कंपनियां कर्जा लेकर माफ करवा लेती हैं और फिर वहीं कंपनियां सरकारी संस्थान खरीद लेती हैं। ये देश में चल क्या रहा है। अगर कोई किसान कर्जा लेकर कर्जा न भर पाए तो उसका घर, जमीन तक नीलाम कर दी जाती है। कर्जा दस लाख का है तो भी किसान की 50 लाख की जमीन बेची जाती है ये किस तरह कानून है। टिकैत ने कहा कि ये नीतियां जहां पर बनती हैं वहां पर कोई भी ट्रैक्टर या हल चलाने वाला नहीं है।

टिकैत की जनसभा में उमड़े किसान।
टिकैत की जनसभा में उमड़े किसान।

गोदाम वाले किसान से 20-22 में लेकर 150 तक बेच रहे सेब
टिकैत ने कहा कि हिमाचल में किसान का सेब 20 से 22 रुपए तक बिक रहा है वहीं बड़े-बड़े गोदाम वाले 100 से 150 रुपए में सेब बेच रहे है। हिमाचल में बड़े-बड़े उद्योगपतियों ने गोदाम बना रखे हैं जो सस्ते में सेब खरीदकर उसमें जमा करते हैं और फिर महंगे रेटों पर आगे बेचते हैं। जिस तरह से आसाम में चाय के बागानों के मालिक किसानों को उद्योगपतियों ने बर्बाद किया है उसी तरह से अब हिमाचल के किसान बर्बाद होंगे। किसान की गेहूं बिकता है 20 रुपए में और मॉल में आटा मिलता है 87 रुपए किलो। किसान का बाजरा बिकता है 12 रुपए किलो और आटा मिलता है 60 रुपए किलो। जिस तरह से देश में गोदाम बनाए जा रहे हैं, उनसे देश के हालात और भी ज्यादा खराब होंगे।

खबरें और भी हैं...