पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खुशखबरी:मेंथा की खेती करने वाले किसानों काे प्रति एकड़ 7 हजार रुपए सब्सिडी मिलेगी

हिसार19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में मेंथा की खेती करने वालाें के लिए खुशखबरी है। अब यदि किसान धान की फसल काे छाेड़कर जुलाई और अगस्त में मेंथा की खेती करते हैं ताे उन्हें स्पेशल सब्सिडी दी जाएगी। स्पेशल सब्सिडी के तहत किसान काे प्रति एकड़ 7 हजार रुपए की सहायता मिलेगी।

बागवानी विभाग और हिसार के मेंथा डिस्टीलेंशन यूनिट के निदेशक प्रदीप नेहरा किसानाें काे मेंथा की खेती करने के प्रति गाेष्ठी और साेशल मीडिया के माध्यम से जागरूक कर रहे हैं। किसानाें काे मेंथा की खेती कर आमदनी बढ़ाने के भी टिप्स दिए जा रहे हैं। प्रदेश की यदि बात की जाए ताे करीब 100 एकड़ में हिसार, फतेहाबाद, अम्बाला, जींद, कैथल गुड़गांव समेत कई जिलाें में मेंथा की खेती की जाती है।

मेंथा की बुवाई करने का सही समय फरवरी और मार्च हाेता है। सरकार द्वारा मेंथा की खेती करने पर एक हेक्टेयर पर 16 हजार, जबकि एक एकड़ पर 6400 रुपए सब्सिडी के रूप में दिए जाते है। बागवानी सलाहकार डाॅ. निशा ने बताया कि पिछले कुछ समय से हरियाणा में मेंथा की खेती करने वाले किसानाें का रुझान बढ़ा है। अब हिसार और, फतेहाबाद में भी कुछ किसान मेंथा की खेती कर रहे हैं।

अब सरकार द्वारा मेंथा की खेती करने पर स्पेशल सब्सिडी दी जा रही है। स्पेशल सब्सिडी का लाभ उन किसानाें काे दिया जाएगा, जाे धान की खेती छाेड़कर मेंथा की बुवाई करेंगे। जुलाई और अगस्त में भी मेंथा की बुवाई की जा सकेगी। किसानों काे नई याजना के बारे में जानकारी दी जा रही हैं। ताकि वह जागरूक हाेकर मेंथा की खेती कर सकें।

मेंथा उगाने पर प्रति एकड़ 65 से लेकर 70 हजार रुपए तक की आमदनी हाे सकती है। एक एकड़ में करीब 30 हजार रुपए तक की लागत हाेती है। हिसार के मेंथा डिस्टीलेंशन यूनिट के निदेशक प्रदीप नेहरा पिछले करीब छह माह से किसानाें काे नि:शुल्क मेंथा की खेती की प्रति जागरूक कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...