बयान पर बवाल:किसानों का अल्टीमेटम, कमल गुप्ता ने गुरुवार तक माफी नहीं मांगी ताे शुक्रवार से धरने का पक्का मोर्चा

हिसार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा विधायक कमल गुप्ता के आवास से कुछ दूर बालसमंद रोड पर ज्ञान केंद्र के बाहर बुधवार शाम 6:30 बजे किसान टेंट लगाने की तैयारी करने लगे। इस दौरान पुलिस के साथ बहस हुई। - Dainik Bhaskar
भाजपा विधायक कमल गुप्ता के आवास से कुछ दूर बालसमंद रोड पर ज्ञान केंद्र के बाहर बुधवार शाम 6:30 बजे किसान टेंट लगाने की तैयारी करने लगे। इस दौरान पुलिस के साथ बहस हुई।
  • भाजपा विधायक की टिप्पणी के विरोध में किसानों में रोष, लक्ष्मीबाई चौक से मलिक चौक रोड पर पुलिस ने बेरिकेड लगाए

किसानाें ने सरकार और प्रशासन काे अल्टीमेटम दिया है कि भाजपा विधायक डाॅ. कमल गुप्ता ने गुरुवार तक किसानाें से माफी नहीं मांगी ताे शुक्रवार से उनके आवास के बाहर ही तंबू लगाकर पक्का माेर्चा बनाकर धरना शुरू कर देंगे। यह आदाेलन प्रदेशस्तर का हाे जाएगा। बेरिकेडिंग के चलते बुधवार को दूसरे दिन भी लक्ष्मीबाई चौक से मलिक चाैक की ओर आने-जाने वाले लाेगाें काे परेशानी का सामना करना पड़ा।

नगर निगम दफ्तर भी इसी रोड पर है, जहां कई लोग भी नहीं जा सके। किसानों के प्रदर्शन के चलते पुलिस की 5 कंपनियां तैनात की गई हैं। 5 डीएसपी और महिला पुलिस बल की तैनात। वहीं जिले में भाजपा और जजपा के सांसद, विधायक, मंत्री और डिप्टी स्पीकर के आवास पर भी पुलिस का कड़ा पहरा रहेगा।

साेमवार काे रेस्ट हाउस में किसानों और विधायक डाॅ. कमल गुप्ता के बीच प्रकरण के बाद से किसान बिफरे हुए हैं। किसानाें ने मंगलवार काे भी धरना प्रदर्शन किया था तथा बुधवार काे विधायक आवास के घेराव की चेतावनी दी थी। किसानाें का आराेप है कि भाजपा विधायक ने उनके खिलाफ टिप्पणियां की हैं। बुधवार सुबह किसान नारेबाजी करते हुए मधुवन पार्क से मलिक चाैक की ओर जा रहे थे। वहां पहले से माैजूद पुलिस फाेर्स ने जिंदल ज्ञान केंद्र व प्रीति नगर के सामने सड़क पर राेक लिया और आगे नहीं जाने नहीं जाने दिया। किसान भी उसी जगह सड़क पर बैठकर नारेबाजी करने लगे।

तंबू के लिए सामान लेकर आ रही गाड़ी ने बेरिकेडस काे मारी टक्कर, चालक फरार

किसानाें के लिए तंबू का सामान लेकर आए पिकअप वाहन ने बुधवार शाम काे लक्ष्मीबाई चाैक पर बेरिकेडस काे टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही वाहन चालक फरार हाे गया। इसी दाैरान वहां खड़े पुलिस जवानाें ने पिकअप काे अपने कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। उधर, देर रात तक पु्लिस औ’र प्रशासन के अधिकारी किसानाें काे धरना हटाने के लिए समझाते रहे, लेकिन किसान धरने पर डटे रहे।

प्रीति नगर का रास्ता बंद हाेने से नाराज लाेगों ने दी चेतावनी

जिंदल ज्ञान केंद्र के सामने प्रीति नगर सड़क के साथ किसानाें ने धरना लगाकर राेड जाम कर दिया। इसके चलते प्रीति नगर वासियाें काे आने-जाने के लिए दिक्कत उठानी पड़ रही है। स्थानीयवासियाें काे लंबे रास्ते से घूमकर अंदर आना पड़ रहा है। प्रीति नगर पार्क विकास समिति के प्रधान तरूण गाेयल ने कहा कि प्रशासन जल्द से जल्द उनके रास्ते काे खाली करवाएं।

कल सुबह पार्क में बैठक बुलाई जाएगी। इनके अलावा विनाेद बड़ाेपलिया, पितरूमल, ईश्वर दास गाेयल, कपिल गर्ग, राजीव सातराेडिया, रामअवतार, रीना सातराेडिया, डाेली गाेयल, शशी शर्मा व माेनिका गाेयल आदि ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उन्हें जल्द रास्ता नहीं मिला ताे जिला अधिकारियाें से मिला जाएगा।

इधर... किसानों ने टोल पर रोका हाईवे, देर रात तक फंसे रहे वाहन

हिसार में विधायक का विरोध करने वाले किसानों ने दोपहर बाद रामायण टोल प्लाजा पर हाईवे रोक दिया। किसानों ने करीब दो बजे टोल पर हाईवे जाम किया। बड़ी संख्या में वाहन फंसे थे। हिसार से लौटने के बाद किसानों ने रामायण टोल प्लाजा पर हाईवे रोक दिया। जाम से बड़ी संख्या में वाहन मौके पर फंस गए।

इधर... निगम में राेज पहुंचते हैं करीब तीन हजार लोग, प्रदर्शन के चलते हुई परेशानी

बालसमंद रोड पर जाम और बैरिकेडिंग के कारण नगर निगम की 8 से ज्यादा पब्लिक से जुड़ी सेवाएं प्रभावित रही। हाउस टैक्स, डेथ-बर्थ ब्रांच, बिल्डिंग ब्रांच जाति प्रमाण पत्र, वह अन्य तरह की एनओसी सहित पब्लिक से जुड़े कार्य नहीं हो पाए। निगम कार्यालय में करीब ढाई से 3000 लोग रोज किसी न किसी काम को लेकर जाते हैं मगर जाम के कारण पूरा दिन शहर के लोग कार्यालय में नहीं पहुंच पाए।

बैरिकेडिंग के साथ भारी पुलिस बल और दूसरी तरफ किसानाें की नारेबाजी के बीच पूरा दिन हंगामे के हालात बने रहे। मलिक चाैक से लेकर लक्ष्मीबाई चाैक पर वाहनाें का आवागमन नहीं हाे सका। लाेगाें काे पारिजात चाैक से बालसमंद राेड फाटक क्राॅस करके आना-जाना पड़ा।

खबरें और भी हैं...