स्वास्थ्य विभाग की रिपाेर्ट में खुलासा:साेरखी पीएचसी क्षेत्र में 529 जगह मिला लारवा, उकलाना व नारनौंद मेंं कहीं नहीं

हिसार20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग की रिपाेर्ट में खुलासा, जिलेभर में 2054 काे लारवा मिलने पर दिए नाेटिस - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग की रिपाेर्ट में खुलासा, जिलेभर में 2054 काे लारवा मिलने पर दिए नाेटिस
  • जिलेभर में 2054 काे लारवा मिलने पर दिए नाेटिस

विभागीय अधिकारियाें ने यदि समय रहते बरसात के भरे पानी की निकासी की तरफ ध्यान नहीं दिया ताे जिले में डेंगू पैर पसार सकता है। जल्द पानी निकासी की व्यवस्था कराई जाए। उक्त मांग करते हुए स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम और हुडा के स्टेट प्रशासन काे पत्र लिखा है। जिले के आर्य नगर के अलावा मिलगेट, सेक्टर 33, सेक्टर 9-11और अन्य स्थानाें पर अभी बरसात का पानी खड़ा हुआ है। इसके कारण डेंगू और अन्य संक्रामक राेगाें के फैलने की आशंका है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियाें काे अब तक जिले के 2054 स्थानाें पर लारवा मिल चुका है, जिनमें सबसे अधिक साेखरी सीएचसी क्षेत्र में 529, सीसवाल में 352, सिसाय में 349, हिसार सिटी डीएमओं में 210, आर्य नगर में 176, हिसार सिटी यूएमएस में 141 बरवाला में 162, मंगाली में 135 के यहां लारवा मिलने पर नाेटिस दिए हैं। नारनाैंद, उकलाना और जीएच हांसी में एक भी स्थान पर स्वास्थ्य विभाग टीम काे लारवा नहीं मिला है। यानी यहां के लाेग साफ सफाई में आगे हैं।

हेल्थ इंस्पेक्टर आरडी जांगड़ा के अनुसार अब तक जिलेभर में कुल 2054 काे लारवा मिलने पर नाेटिस जारी किए जा चुके हैं। हालांकि, दूसरी बार किसी के यहां पर लारवा नहीं मिला है। लाेगाें काे जागरूक करने तथा लारवा के लिए जिलेभर में 220 टीमाें काे लगाया है। अब लाेगाें के घराें के अंदर लारवा नहीं मिल रहा है। बरसात के जमा पानी वाले स्थानाें पर अधिक लारवा है। इसके लिए नगर निगम के सचिव और हुडा के स्टेट ऑफिसर काे पत्र लिखा है। कहा गया कि यदि जल्द पानी निकासी पर ध्यान नहीं दिया ताे डेंगू अधिक फैल सकता है।

अब तक जिले में मिल चुके 39 डेंगू राेगी

मलेरिया अधिकारी डाॅ. सुभाष खटरेजा का कहना है कि जिलेभर में अब तक 39 डेंगू के राेगी मिल चुके हैं। टीम लाेगाें काे डेंगू से बचाव के प्रति भी जागरूक कर रही है। जिले के आर्य नगर, आजाद नगर, कैमरी, मिल गेट क्षेत्र, अमरदीप काॅलाेनी, सेक्टर 33, महाबीर काॅलाेनी, सीरेज का गंदा पानी, सेक्टर 9-11, सेक्टर 16-17 में अभी जलभराव है। अधिवक्ता बजरंग इंदल, सुनील कुमार का कहना है कि विभागीय अधिकारियाें काे बरसात के भरे पानी की निकासी की तरफ उचित ध्यान देना चाहिए। वरना संक्रमक राेग फैल सकते हैं।

दाे हजार तक लगाया जाता है जुर्माना
लारवा मिलने पर मकान या दुकान मालिक काे नाेटिस जारी किया जाता है। नोटिस के तहत मकान मालिक को चेतावनी दी जाती है कि एक हफ्ते बाद फिर से जांच की जाएगी और अगर उस वक्त भी लारवा पाए गए तो दो हजार रुपये तक का जुर्माना भी वसूला जाएगा।

अभियान आगे भी जारी रहेगा: डाॅ. सुभाष

-डाॅ. सुभाष खटरे​​​​​​​^लाेगाें काे डेंगू और संक्रामक राेगाें से बचाव के प्रति जागरूक किया जा रहा है। एंटी लारवा अभियान के तहत भी टीमें लाेगाें काे नाेटिस जारी कर रही हैं। अभियान आगे भी जारी रहेगा। डाॅ. सुभाष खटरेजा, जिला मलेरिया अधिकारी, हिसार।

खबरें और भी हैं...