पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मजबूर हैं मजदूर:बिटिया-पत्नी बीमार इसलिए पैदल ही चले घर, कुछ ने रेलवे स्टेशन के पास डाला डेरा

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऑटो मार्केट के पास से पैदल ही अपने घर को जाते मजदूर। - Dainik Bhaskar
ऑटो मार्केट के पास से पैदल ही अपने घर को जाते मजदूर।
  • ग्राउंड रिपोर्ट : रात में भी हिसार, सिरसा से यूपी और बिहार के लिए मजदूराें का पलायन जारी

लॉकडाउन में अभी भी यूपी और बिहार के मजदूराें काे हिसार और सिरसा से पलायन जारी है। अब रात में भी मजदूराें ने अपने घर तक का सफर तय करने के लिए सड़काें पर निकलना शुरू कर दिया है। भास्कर ने गुरुवार की रात में शहर में पड़ताल की ताे कई सड़कों मजदूर पैदल ही जाते मिले।

कुछ मजदूराें ने कहा कि उनकी पत्नी और मां की तबीयत ज्यादा बीमार हाे गई है, जिसके कारण वह घर के लिए जा रहे हैं। यदि उन्हें बस या फिर ट्रेन का साधन नहीं मिलता है ताे वह पैदल भी घर तक का सफर तय करने से पीछे नहीं हटेंगे।

पुलिस ने छह जगह पर पूछा, खाने की काेई दिक्कत ताे नहीं, बच्चाें काे खुद का खाना भी उपलब्ध कराया

गाेरखपुर के लिए जा रहे मजदूर परमिल, समीर ने बताया कि वह सिरसा से गाेरखधाम एक्सप्रेस में जाने के लिए अाए। बस स्टैंड से लेकर रेलवे स्टेशन तक उन्हें छह जगह पुलिस के जवान मिले। सभी ने पूछा खाना मिला या नहीं। यही नहीं दाे पुलिसकर्मियाें ने बच्चाें काे खुद का खाना भी उपलब्ध कराया।

250 अधिक हाे रहे रजिस्ट्रेशन

रेलवे सूत्राें के अनुसार हिसार से गाेरखपुर जाने वाली ट्रेन में हर राेज करीब 250 से अधिक रजिस्ट्रेशन हाे रहे हैं। अंदाजा लगाया जा रहा है कि यूपी और बिहार के मजदूर ही ट्रेन में सवार हाेकर अपने घराें काे लाैट रहे हैं। हालांकि कुछ नाैकरीपेशा और अन्य लाेग भी शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...