पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हत्या के मामले में ट्विस्ट:डीएसपी जींद के गनमैन पर पत्नी की हत्या का आरोप, जांच पर सवाल उठाकर पीड़ित पक्ष कोर्ट पहुंचा

हिसार19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अदालत: 9 फरवरी तक केस की स्टेटस रिपोर्ट पेश करें, एक्सपर्ट: सबूतों से किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की
  • आरोप : गनमैन को लाभ पहुंचाने की नियत से सबूतों से की गई छेड़छाड़

सिरसा रोड स्थित हाउसिंग बोर्ड कालोनी में 10 माह पहले जींद के तत्कालीन डीएसपी कप्तान सिंह के गनमैन भिवानी के गांव देवास वासी विक्रम द्वारा अपनी पत्नी लोहारु के गांव गोकुलपुरा वासी रिंकू की हत्या करने के मामले में गठित इनवेस्टीगेशन टीम की जांच पर सवाल उठे हैं। पुलिस ने वारदात में प्रयोग सिर्फ सोटा ही बरामद किया था लेकिन फोरेंसिक साइंस लैब में भेजे स्वैब की जांच रिपोर्ट में और भी जख्मों की पुष्टि हुई है।

मृतका के भाई विकास और पीड़ित पक्ष के वकील हरदीप का आरोप है कि पुलिस ने गनमैन को अनुचित लाभ पहुंचाने की नियत से सबूतों से छेड़छाड़ करके अदालत में गलत चालान भी पेश करके गुमराह किया है। इसलिए एडीजे डॉ. पंकज की अदालत से इनवेस्टीगेशन टीम के विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 193, 156 (3), 173 (8) के तहत एफआईआर दर्ज करने की गुहार लगाई है।

एडीजे ने लिया संज्ञान

एडीजे ने मामले पर संज्ञान लेते हुए आईजी हिसार रेंज और एसपी को जिम्मेदारी सौंपते हुए 9 फरवरी को मामले में स्टेट्स रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। इस मामले में जांच पर सवाल उठने के तुरंत बाद एसपी ने सिटी थाना एसएचओ विनोद का दूसरे चौकी-थाना में तबादला कर दिया था। वहीं, अब नई अनाज मंडी चौकी इंचार्ज रविंद्र को जीजेयू चौकी में शिफ्ट कर दिया है।

बता दें कि डीएसपी अभिमन्यु लोहान को एसपी ने मामले की स्पेशल जांच सौंपी है। अगर किसी पुलिस अधिकारी या कर्मी की मामले में लापरवाही और सबूतों से छेड़छाड़ करके आरोपी को अनुचित लाभ पहुंचाने का दोषी पाया तो विभागीय कार्रवाई संभव है, वहीं अदालत भी सख्त एक्शन ले सकती है।

सीन ऑफ क्राइम टीम ने दोबारा किया था घटनाक्रम को रिकंस्ट्रक्शन

ऐसा क्यों हुआ...ये हैं बड़े सवाल

1. 16 अप्रैल 2020 की अलसुबह वारदात करके गनमैन विक्रम ने पुलिस को सूचना दी थी। शराब पीकर पत्नी की सोटा मारकर हत्या करने की बात कबूली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सिर्फ सोटा बरामद किया था। वारदात के बाद सीन ऑफ क्राइम टीम की बजाए सिर्फ फिंगर प्रिंट्स एक्सपर्ट को बुलाया था। टीम पहुंचती तो शायद गोलियां मारकर भी हत्या करने बात सामने आती।

2. सिविल अस्पताल में तीन सदस्य मेडिकल बोर्ड ने पोस्टमार्टम किया था। बोर्ड ने रिपोर्ट में लिखा था कि भारी वस्तु से चोट के निशानों के साथ सिर में 2 छेद मिलने का जिक्र किया हुआ था। तब स्वैब सैंपल जांच के लिए एफएसएल में भिजवाए थे।

जानिए... किन-किन पर लगाया है आरोप

पीड़ित पक्ष के अधिवक्ता हरदीप ने तत्कालीन सिटी थाना एसएचओ विनोद कुमार, एएसआई सतपाल सिंह, एएसआई सुमन, एएसआई सुमेर सिंह, एएसआई राजू, एएसआई रविंद्र, एचसी बरवाला, डीएसपी हेडक्वार्टर अशोक कुमार और एसओसी असि. डायरेक्टर डॉ. अजय पर सबूतों से छेड़छाड़ व सबूत मिटाने का आरोप लगाया है। इसके अलावा जींद के तत्कालीन डीएसपी कप्तान सिंह और रि. एसपी जसवंत सिंह पर भी आरोपी की मदद करने का आरोप लगाया है।

घटनाक्रम की जांच कर फिर से दी रिपोर्ट

इस प्रकरण की पुन: जांच के चलते सीन ऑफ क्राइम यूनिट के असि. डायरेक्टर डॉ. अजय ने जनवरी माह में घटना स्थल पर जाकर पूरा घटनाक्रम रिकंस्ट्रक्शन किया था। उन्होंने पुरानी फोटोज और पोस्टमार्टम रिपोर्ट इत्यादि के जरिए रिकंस्ट्रक्शन करके अपनी रिपोर्ट दी थी। इन्होंने भी वारदात के दौरान सोटा के अलावा अन्य जख्मों की पुष्टी की थी।

बोर्ड से ली थी राय, कौन सा हथियार प्रयोग हुआ

डीएसपी डिटेक्टिव ने मामले की पुन: जांच करते हुए 29 जनवरी 2020 को सिविल अस्पताल पीएमओ के नाम पत्र लिखकर मृतका रिंकू की मौत किस कारण और वारदात में कौन सा हथियार प्रयोग हुआ था। बताया कि 16 अप्रैल 2020 को हत्या हुई थी। तीन सदस्यीय बोर्ड ने पोस्टमार्टम किया था। इन्होंने बताया था कि लगी चोटों में से 2 घाव प्रवेश व निकासी के हैं। हत्या में अतिरिक्त हथियार के प्रयोग की पुष्टि हुई थी।

नोटिस देकर बयान दर्ज होंगे

इस मामले की अभी जांच चल रही है। 9 फरवरी को कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट पेश करनी है। इनवेस्टीगेशन टीम को कारण बताओ नोटिस देकर बयान दर्ज होंगे। हत्यारोपी गनमैन विक्रम जेल में बंद है।'' - अभिमन्यु लोहान, जांच अधिकारी डीएसपी|

छेड़छाड़ के आरोप निराधार

मृतका का पोस्टमार्टम हुआ था। तब मेडिकल बोर्ड ने 2 घावों का जिक्र करके स्वैब सैंपल लेकर जांच के लिए फोरेंसिक लैब में भिजवाया था। बैलेस्टिक व सीरोलॉजी जांच हुई थी। वारदात के दिन फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को ही बुलाया था। लाभ देने के आरोपी को अनुचित लाभ पहुंचाने की बात निराधार है। '' - डॉ. अजय, असि. डायरेक्टर एसओसी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें