आदमपुर सीट पर BJP के भव्य बिश्नोई जीते:कांग्रेस दूसरे नंबर पर; AAP और इनेलो समेत 20 उम्मीदवारों की जमानत जब्त

हिसार24 दिन पहले

हरियाणा के हिसार जिले में आदमपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवार भव्य बिश्नोई जीत गए हैं। उन्हें 15,714 वोटों से जीत मिली है। भव्य पूर्व CM भजनलाल परिवार की तीसरी पीढ़ी से हैं, जो चुनाव लड़े। जीत का पता लगते ही भव्य के समर्थकों ने नारेबाजी करते हुए पटाखे फोड़कर जश्न मनाया।

वहीं इस चुनाव में भाजपा के बाद सिर्फ कांग्रेस ही जमानत बचा सकी। आम आदमी पार्टी के सतेंद्र सिंह और इनेलो के कुरडाराम समेत 20 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। AAP को यहां 3,420 और कुरडाराम को 5,248 वोट मिले। आदमपुर में कुल 1 लाख 31 हजार 523 वोट पड़े थे। इसमें से जमानत बचाने के लिए 21,911 वोट लेने जरूरी थे।

जीत का सर्टिफिकेट लेने के बाद परिवार और समर्थकों के साथ भव्य बिश्नोई।
जीत का सर्टिफिकेट लेने के बाद परिवार और समर्थकों के साथ भव्य बिश्नोई।

हार का पता चलते ही कांग्रेस-AAP कैंडिडेट घर लौटे
वहीं, कांग्रेस हर राउंड में भाजपा के भव्य बिश्नोई से पिछड़ती गई। यह देख 9वें राउंड के बाद ही कांग्रेस के उम्मीदवार जयप्रकाश मतगणना केंद्र से निकल गए। आम आदमी पार्टी के सतेंद्र को पहले ही पता चल गया कि उनके लिए यहां हार-जीत तो दूर, मुकाबले से भी बाहर रहने के हालात हैं। इसलिए वह इससे पहले ही मतगणना केंद्र से घर निकल गए।

करनाल में समर्थकों को लड्‌डू बांटकर जश्न मनाते CM मनोहर लाल।
करनाल में समर्थकों को लड्‌डू बांटकर जश्न मनाते CM मनोहर लाल।

यहां पढ़ें राउंडवाइज रिजल्ट:-

  • ​मतगणना के पहले राउंड में भव्य बिश्नोई को 2,846 वोटों की बढ़त मिली।
  • दूसरे राउंड में कांग्रेस उम्मीदवार जयप्रकाश को ज्यादा वोट मिले। जयप्रकाश ​​​​​​दूसरे राउंड में 526 वोट से आगे रहे, जिसके बाद भव्य की लीड घटकर 1978 रह गई।
  • तीसरे राउंड में भाजपा के भव्य बिश्नोई ज्यादा वोट मिले और उनकी लीड बढ़कर 6235 हो गई थी।
  • चौथे राउंड में BJP के भव्य बिश्नोई 6,399 वोटों से आगे हो गए। इसमें भव्य को कांग्रेस से 164 वोट ज्यादा मिले।
  • पांचवें राउंड में BJP के भव्य बिश्नोई की लीड बढ़कर 10,232 हो चुकी है। 5वें राउंड में भव्य को दूसरों के मुकाबले 3833 वोट ज्यादा मिले।
  • छठे राउंड में BJP के भव्य बिश्नोई की लीड बढ़कर 13,326 हो गई।
  • सातवें राउंड में भी BJP के भव्य बिश्नोई की लीड बढ़ी। वह 15365 वोटों से आगे हो गए।
  • 8वें राउंड में BJP के भव्य बिश्नोई 15,875 की लीड मिली।
  • 9वें राउंड के बाद BJP के भव्य बिश्नोई 17,988 की लीड मिली।
  • 10वें राउंड में कांग्रेस के जयप्रकाश को ज्यादा वोट मिले। जिसके बाद भव्य बिश्नोई की लीड कम होकर 17369 रह गई है।
  • 11वें राउंड में भव्य बिश्नोई को 16284 वोटों की लीड थी।
  • 12वें राउंड में बढ़कर 16388 हो गई।
  • 13वें राउंड में भव्य बिश्नोई 15714 वोटों से जीत गए।

किस राउंड में किसे कितने वोट मिले:-

राउंडभव्य बिश्नोई
(‌BJP)
जेपी
(कांग्रेस)
सतेंद्र सिंह
(AAP)
कुरड़ाराम
(इनेलो)
लीड (भव्य)
1.639935671751682314
2.437952331454671978
3.68552598601056235
4.464644821991836399
5.639425612077410232
6.7017401918423413326
7.5177303810166815365
8.5052454339426215875
9.6049393616311517988
10.4575519426518917369
11.3757484230032916284
12.4922481824165616388
13.2158283264239015,714
कुल67376516623413524115,714

कुलदीप के इस्तीफा देने के कारण खाली हुई थी सीट
हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और कुलदीप बिश्नोई के बीच राजनीतिक महत्वकांक्षा को लेकर छत्तीस का आंकड़ा रहा है। हरियाणा कांग्रेस की तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा के साथ तालमेल न बैठने के कारण हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद से 9 अप्रैल 2022 को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। हालांकि एक नाटकीय घटनाक्रम के बाद 27 अप्रैल को उनका इस्तीफा स्वीकार किया गया।

इसके बाद कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की दौड़ में थे। हुड्‌डा भी अपने बेटे और राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा को प्रदेशाध्यक्ष बनाना चाहते थे। परंतु एकाएक हुड्‌डा ने दलित नेता उदयभान का नाम हाईकमान के सामने रख दिया और कामयाब रहे। राहुल के दरबार में कुलदीप बिश्नोई की सुनवाई नहीं हुई।

कुलदीप बिश्नोई ने 2016 में हरियाणा जनहित कांग्रेस का कांग्रेस में विलय किया था। नाराज कुलदीप ने राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन की बजाए भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा को वोट दिया। अजय माकन चुनाव हार गए। इसके बाद पार्टी ने कुलदीप को कांग्रेस वर्किंग कमेटी मैंबर के पद से हटा दिया। 3 अगस्त को कुलदीप ने विधायक पद से इस्तीफा देकर 4 अगस्त को भाजपा जॉइन कर ली।

आदमपुर रहा है पूर्व सीएम भजनलाल का गढ़
आदमपुर विधानसभा से अब तक पूर्व सीएम भजन लाल का परिवार ही चुनाव लड़कर जीतता आ रहा है। वर्ष 1967, 1972, 1977, 1982 तक खुद भजनलाल यह सीट जीतते आए। 1987 में उनकी पत्नी जसमा देवी, 1990, 1996, 2000, 2005, 2008 उपुचनाव में भजन लाल जीते।

जबकि 1998 उप चुनाव, 2009, 2014 और 2019 में कुलदीप बिश्नोई चुनाव जीते। 2011 के उप चुनाव में रेणुका बिश्नोई जीती। इस तरह से 12 सामान्य और तीन उप चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री का परिवार का ही दबदबा रहा।

खबरें और भी हैं...