पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Haryana Did Not Give Chance, Made The Game From Himachal In The National Team, Sharmila Scored The Winning Goal In The Olympic Qualifying Round

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दृढ़ निश्चय हो तो सफलता पक्की:हरियाणा ने नहीं दिया मौका तो हिमाचल से खेल बनाई नेशनल टीम में जगह, शर्मिला ने ओलिंपिक क्वालीफाइंग राउंड में किया विनिंग गोल

हिसार4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ओलिंपिक में क्वालीफाई करने वाली इंडियन हॉकी टीम की खिलाड़ी शर्मिला गोदारा। - Dainik Bhaskar
ओलिंपिक में क्वालीफाई करने वाली इंडियन हॉकी टीम की खिलाड़ी शर्मिला गोदारा।
  • एस्ट्रोटर्फ मैदान पर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए पहुंची गोदारा ने हॉकी किट, टी शर्ट और हॉकी भेंट कर खिलाड़ियों को किया प्रोत्साहित

दृढ़ निश्चय हो तो कोई भी बाधा मंजिल को पाने से रोक नहीं सकती। ऐसा ही कुछ सिद्ध कर दिखाया कैमरी गांव की हॉकी प्लेयर शर्मिला गोदारा ने। जिन्हें हरियाणा में कभी खेलने का मौका नहीं दिया गया। लेकिन हिमाचल ने उन्हें मौका दिया तो शर्मिला ने अपने आपको को साबित कर नेशनल टीम में अपनी जगह बनाई।

बता दें, की इस बार इंडियन हॉकी टीम ने ओलंपिक में क्वालीफाई किया है। इस क्वालीफाइंग राउंड में विनिंग गोल शर्मिला गोदारा ने ही किया था। हाकी खिलाड़ी गोदारा शनिवार को एस्ट्रोटर्फ मैदान खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए पहुंची थी। उन्होंने 25 खिलाड़ियों को हॉकी किट, टी शर्ट और हॉकी भेंट की। इस मौके पर उनके साथ रिटायर्ड पुलिस इंस्पेक्टर जगदीश, गर्ल्स कोच विजय चौहान, कोच राजेंद्र सिहाग मौजूद रहे।

कैमरी के सरकारी स्कूल से शुरू हुआ सफर, अब नेशनल टीम में शामिल

किसान की बेटी शर्मिला गोदारा का हॉकी का सफर छठी कक्षा में शुरू हुआ। कैमरी के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली शर्मिला को हॉकी सबसे पहले डीपी प्रवीणा सिहाग ने पकड़ाई थी जो कि खुद राष्ट्रीय स्तर की हॉकी प्लेयर रह चुकी हैं। इसके बाद चंडीगढ़ अकादमी में राजेंद्र ओलंपियाड से भी ट्रेनिंग हासिल की। हरियाणा में सिलेक्शन के लिए शर्मिला ने काफी कोशिश की लेकिन अंदरूनी राजनीति के चलते उन्हें खेलने का मौका दिया गया। उन्होने बताया कि सोनीपत में प्रैक्टिस के दौरान कोच रही प्रीतम ने उन्हें जूनियर हिमाचल टीम में ट्रायल के लिए भेजा था। उसके बाद पहले 2018 में नेशनल जूनियर टीम में सेलेक्ट हुई और 2020 में नेशनल सीनियर टीम में सेलेक्ट हुई है। इसके बाद देश की राष्ट्रीय टीम ने ओलंपिक के लिए क्वालीफाइ किया।

घंटों ग्राउंड पर प्रैक्टिस के लिए ले जाते थे रिटायर्ड फौजी दादा

शर्मिला गोदारा के दादा उन्हें बचपन से ही खिलाड़ी बनाना चाहते थे जिसके चलते बचपन में वे उन्हें ग्राउंड पर घंटों फिजिकल ट्रेनिंग और प्रैक्टिस कराते थे। आर्थिक रूप से भी शर्मिला को अपने दादा का सबसे ज्यादा सपोर्ट मिला। शर्मिला अब तक ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और जापान जाकर अपनी प्रतिभा का प्रमाण दे चुकी है और ओलंपिक क्वालीफाई राउंड क्लियर करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अब उसका लक्ष्य भारत की टीम की ओलंपिक जितान है। जिससे के लिए वे लगातार बैंगलोर में प्रेक्टिस कर रही हैं। 4 जनवरी प्रेक्टिस के लिए अर्जेंटीना जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें