• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Haryana, Hisar: In The Video, Peon Rampal Was Seen Asking For A Bribe Of 40 Thousand By Taking The Name Of The Sir, Revealed After The Arrest

विजिलेंस के हाथ नहीं आया हिसार का DI:चपरासी की गिरफ्तारी के बाद VIDEO आया सामने, 40 हजार की रिश्वत मांगता दिखा; कह रहा- कम में साहब नहीं मानेंगे

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार में ड्रग इंस्पेक्टर सुरेश चौधरी का चपरासी रामपाल, जिसे रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। - Dainik Bhaskar
हिसार में ड्रग इंस्पेक्टर सुरेश चौधरी का चपरासी रामपाल, जिसे रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

भ्रष्टाचार केस में फंसा ड्रग कंट्रोलर डॉ. सुरेश चौधरी दूसरे दिन भी विजिलेंस के हाथ नहीं आया। विजिलेंस द्वारा चपरासी और ड्राइवर को 40 हजार की रिश्वत लेते हुए काबू करने के बाद से सुरेश चौधरी फोन बंद करके फरार है। विजिलेंस इंस्पेक्टर अनिल कुमार के अनुसार केस के मुख्य आरोपी सुरेश चौधरी को काबू करने के लिए उनकी टीमें लगातार काम कर रही है।

इंसपेक्टर ने बताया कि ड्रग कंट्रोलर ही रिश्वत मामले की डील करने के लिए अपने चपरासी रामपाल व सुमित का प्रयोग करता था और रिश्वत के पैसे में से दोनों को खर्चे के तौर पर हिस्सा भी देता है। दोनों ने पूछताछ में कुबूला है कि वह सुरेश चौधरी के कहने पर कई दवा विक्रेताओं से वसूली करते थे। पूछताछ के बाद सिवानी वासी चपरासी रामपाल व जगरामबास वासी ड्राइवर सुमित को कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया गया।

इस प्रकरण में ड्रग कंट्रोलर के चपरासी रामपाल द्वारा रिश्वत माँगने का वीडियो सामने आया है। वीडियो नागरिक अस्पताल परिसर में ड्रग कंट्रोलर के दफ्तर के बाहर का है। वीडियो में रामपाल रिश्वत की मांग कर रहा है जबकि शिकायतकर्ता रामबिलास कुछ रेट कम करने की बोल रहा है। इसके बाद रामपाल सुरेश चौधरी के दफ्तर में जाता है और बाहर आकर कहता है कि 40 से कम में काम नहीं होगा।

शुक्रवार को विजिलेंस टीम ने ड्रग कंट्रोलर सुरेश चौधरी के ड्राइवर सुमित व चपरासी रामपाल को रामायण वासी रामबिलास से 40 हजार की रिश्वत लेते काबू किया था। ये दोनों ड्रग कंट्रोलर सुरेश चौधरी के कहने पर केमिस्ट शॉप के लाइसेंस के लिए रिश्वत लेने आये थे। मुख्य आरोपी सुरेश चौधरी अभी तक फरार है।