विजिलेंस ने हिसार कमिश्नर का ओएसडी पकड़ा:गुरुग्राम में दर्ज किया मामला; 2011 बैच का HCS अधिकारी है राजेश

हिसार5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा राज्य सतर्कता ब्यूरो ने भ्रष्टाचार के आरोप में एचसीएस राजेश प्रजापति पर रिश्वतखोरी का मामला दर्ज करते हुए उसे काबू किया है। अधिकारी पर लगे रिश्वत के आरोप ब्यूरो द्वारा की गई जांच के दौरान सही साबित हुए।

ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने सीएम मनोहर लाल के आदेश पर विजिलेंस ब्यूरो को एक शिकायत सौंपी थी जिसमें 2011 बैच के एचसीएस अधिकारी राजेश प्रजापति द्वारा रिश्वत की मांग और स्वीकृति का आरोप लगाया गया था।

वर्तमान में उक्त अधिकारी के पास डिविजनल कमिश्नर, हिसार के ओएसडी का प्रभार है। ब्यूरो ने गहन जांच की जिसमें अधिकारी के खिलाफ रिश्वतखोरी और जबरन वसूली के आरोप साबित हुए। इसके बाद राज्य विजिलेंस ब्यूरो थाना गुरुग्राम में आरोपी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम एवं भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत 7 सितंबर 2022 को आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। आरोपी अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है। राजेश प्रजापति सिरसा में जिला परिषद के सीईओ का कार्यभार भी देख चुके हैं।