हिसार में सिविल अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही:शवों की अदला-बदली; जगपाल का अंतिम संस्कार मृतक केसर के परिजनों ने राजस्थान में किया

हिसार15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के हिसार के सिविल अस्पताल में दो शवों की अदला बदली का मामला सामने आया है। अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से एक मृतक जगपाल का शव दूसरे मृतक केसर सिंह के परिजनों को सौंप दिया। केसर सिंह के परिजनों ने शव राजस्थान ले जाकर दाह संस्कार भी कर दिया।

दोपहर को जब जींद निवासी मृतक जगपाल के परिजन सिविल अस्पताल हिसार पहुंचे तो मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद उन्होंने सिविल अस्पताल में मृतक केसर सिंह का शव लेने से मना कर दिया और रोष जताया। मामले को देखते हुए डीएसपी अशोक कुमार अस्पताल पहुंचे। दोनों मृतकों के परिजन देर शाम तक सिविल अस्पताल की मोर्चरी में मौजूद हैं। वहीं सिविल अस्पताल प्रबंधन चुप्पी साधे हुए है।

मृतक जगपाल
मृतक जगपाल

जींद के उचाना निवासी खेडी मसानियां के बलबीर सिंह मेहरा ने बताया कि कल चाचा जगपाल का कलर भैणी गांव के पास गाड़ी से एक्सीडेंट हो गया। गाड़ी वाले भारत अस्पताल में एडमिट करवा गए। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मौत के बाद हम शाम को शव लेकर आए। शव को गृह में रख दिया।

रविवार दोपहर को जब पोस्टमार्टम के कागजात तैयार करवाने लगे तो जांच अधिकारी ने कहा कि लाश का देख लो। जब लाश देखी तो चाचा की नहीं थी। हमने कहा कि यह चाचा की बॉडी नहीं है। बाद में पता चला कि यह शव केसर सिंह निवासी गंगानगर का है और उसके परिजनों ने चाचा जगपाल का शव ले जाकर गंगानगर में दाह संस्कार कर दिया है।

सिविल अस्पताल प्रबंधन में मौजूद परिजन
सिविल अस्पताल प्रबंधन में मौजूद परिजन

मृतक केसर ने जहर खाकर की थी आत्महत्या

वहीं, आजाद नगर निवासी केसर सिंह ने शनिवार शाम को बस स्टैंड हिसार के पीछे शराब ठेके के पास जहर निगलकर कर आत्महत्या कर ली थी। उसका शव भी सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया था। उसके शव को डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम करके परिजनों को सुबह सौंप दिया। जिसे ले जाकर परिजनों ने राजस्थान के गांव में दाह संस्कार कर दिया। दोपहर को जब सिविल अस्पताल से डॉक्टरों ने उनके पास फोन किया तो उसके बाद परिजन सिविल अस्पताल हिसार पहुंचे। मृतक के भाई राजेश और बेटे अजय ने बताया कि उनके पिता के साथ मृतक जगपाल का चेहरा मिलता जुलता था। हमें जगपाल की मौत का पता नहीं था।

मृतक केसर सिंह
मृतक केसर सिंह