• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Hisar Insurance Company Manager, Honeytrap, Demand 1.50 Lakh; Arrested One, 3 Girls And 2 Youths Absconding.

मैनेजर को हनीट्रैप में फंसा 1.50 लाख मांगे:हिसार पुलिस ने भिवानी के युवक को दबोचा; 3 लड़कियों समेत 5 फरार

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के हिसार में एक प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनी के मैनेजर को हनीट्रैप में फंसा लिया। इसके बाद उसकी वीडियो तैयार कर दुष्कर्म और छेड़छाड़ के केस में फंसाने का डर दिखा कर डेढ़ लाख मांगे। मैनेजर ने अपने दोस्त को फोन कर सारी बात बताई और 1.50 लाख रुपए लेकर जिंदल पुल के पास आने के लिए बोला।

सूचना के बाद पुलिस मैनेजर को साथ लेकर रुपए लेने आए दो युवकों में से भिवानी निवासी एक युवक को काबू कर लिया, जबकि दूसरा फरार हो गया। अर्बन एस्टेट पुलिस ने मामले में 3 युवक और 3 युवतियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है।

ऐसे बुना हनीट्रैप में फंसाने का जाल

जानकारी के अनुसार टोहाना निवासी विकास गर्ग एक प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनी के बरवाला ऑफिस में मैनेजर के तौर पर कार्यरत है। उसे कंपनी के काम के लिए रतिया, टोहाना, फतेहाबाद, हिसार आदि स्थानों पर आना जाना पड़ता है। करीब एक महीना पहले उसकी मुलाकात रतिया निवासी गुरमीत व युवती पूजा के साथ हुई थी। विकास गर्ग का कहना है कि पूजा ने उसके साथ नजदीकी बढ़ानी शुरू कर दी तो, उसने उसे मना कर दिया। आरोप है कि इसके बाद गुरमीत ने उसे लड़कियों के फोटो भेजने शुरू कर दिए। साथ ही गुरमीत उस पर लड़कियों से मिलने के लिए दबाव डालने लगा।

मैनेजर को ले गए हिसार

मैनेजर विकास गर्ग ने पुलिस को बताया कि गुरमीत व पूजा उसे शुक्रवार को बरवाला में सुरेवाला चौक पर मिले। उसे कहा गया कि हिसार चलते हैं। गुरमीत का कहना था कि वहां उसका दोस्त प्रदीप रहता है। वहां बैठ कर बातचीत करेंगे। मैनेजर इसके बाद पूजा व गुरमीत के साथ अपनी मोटरसाइकिल लेकर हिसार की श्याम विहार कॉलोनी में आ गया। प्रदीप वहां किराए के मकान में रहता था। वह उसके कमरे पर गया तो वहां सोनिया और आशा नाम की दो और लड़कियां मिली।

ये हुआ मैनेजर के साथ खेल

विकास गर्ग का कहना है कि गुरमीत ने कमरे पर जाने के बाद वहां मौजूद एक युवती सोनिया को कहा कि मैनेजर को दूसरे कमरे में ले जाकर बात करे। सोनिया उसे दूसरे कमरे में ले गई। आरोप है कि सोनिया ने वहां मैनेजर के कपड़े उतारने शुरू कर दिए। इसके बाद उसे कहा गया कि डेढ़ लाख रुपए दे दे, नहीं तो वह उसे दुष्कर्म और छेड़छाड़ के केस में फंसा देगी।

विकास गर्ग ने कहा कि उसके पास इतने पैसे नहीं तो आरोप है कि सोनिया ने शोर मचा दीया। इसके बाद दूसरे कमरे में मौजूद गुरमीत, पूजा, आशा, प्रदीप व उसका भाई विकास वहां आ गए। उन्होंने आते ही उसके साथ मारपीट शुरु कर दी। प्रदीप व विकास ने अपने-अपने फोन से VIDEO बनानी शुरु कर दी। उसे धमकाया गया कि 1.50 लाख रुपए दे दे नहीं तो पुलिस को बुलाते हैं।

10 हजार व आधार कार्ड लिया

विकास गर्ग को तब समझ में आया कि वह हनीट्रैप में फंस चुका है। सोनिया उसे लगातार दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देकर पैसे की डिमांड कर रही थी। इस बीच गुरमीत, पूजा और आशा ने कहा कि उससे कहा कि पुलिस को मत बुलाओ, यहीं बैठकर सेटलमेंट कर लेते हैं। इसके बाद विकास पर दबाव डाला गया कि वह किसी अन्य से 1.50 लाख रुपए मंगवा ले। इस बीच उसके पास मौजूद 10 हजार रुपए और उसका आधार कार्ड भी उन्होंने ले लिया।

पुलिस लेकर पहुंचा दोस्त

हनीट्रैप में फंसे विकास गर्ग ने हिसार के सेक्टर-14 निवासी अपने दोस्त गौरव वर्मा को फोन कर पूरी बात बताई और उसे 1.50 लाख रुपए लेकर जल्दी से जिंदल पुल के पास पहुंचने को कहा गया। गौरव को सारी बात समझ में आ गई और उसने थाना अर्बन एस्टेट पुलिस को पूरे मामले की जानकारी देकर मदद करने की अपील की। इसके बाद हनीट्रैप में फंसाने वाले गिरोह को पकड़ने की योजना तैयार कर पुलिस की एक टीम ASI कृष्ण कुमार के नेतृत्व में तैयार कर जिंदल पुल के पास भेजी गई।

भिवानी के युवक को दबोचा

पुलिस टीम इसके बाद गौरव वर्मा को लेकर जिंदल पुल के पास पहुंची तो वहां विकास गर्ग के साथ दो और युवक खड़े थे। पुलिस ने उनको पकड़ने के लिए जान बिछाया। इस बीच पुलिस टीम ने एक युवक को पकड़ लिया जबकि दूसरा युवक बाइक लेकर मौके से फरार हो गया। पकड़े गए युवक की पहचान भिवानी के गांव रतेड़ा निवासी प्रदीप के तौर पर हुई। पुलिस उससे पूछताछ कर उसके दो साथियों और 3 लड़कियों के बारे में जानकारी जुटा रही है। पुलिस उसे लेकर श्याम विहार के कमरे पर भी गई, लेकिन दोनों युवक व तीनों लड़कियां वहां नहीं मिले।

3 लड़कियां नहीं लगी पुलिस के हाथ

थाना अर्बन एस्टेट के जांच अधिकारी ASI कृष्ण कुमार ने बताया कि पुलिस ने मैनेजर विकास गर्ग की शिकायत पर गुरमीत, पूजा, प्रदीप, विकास, सोनिया और आशा के खिलाफ IPC की धारा 147, 149, 387, 342, 379B के तहत केस दर्ज कर लिया है। प्रदीप को गिरफ्तार कर उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। पांचों अन्य आरोपी अभी पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं।