हिसार में एजुकेशन पॉलिसी 2021 का विरोध:स्कूल, शिक्षा, रोजगार बचाओ समिति ने दिया धरना; सीएम के नाम का सौंपा ज्ञापन

हिसार8 दिन पहले
स्कूल बंद करने के विरोध में प्रदर्शन करते हुए बच्चे।

चिराग योजना एवं न्यू एजुकेशन पॉलिसी को लेकर स्कूल, शिक्षा, रोजगार बचाओ संघर्ष समिति, हिसार के बैनर तले आज हिसार में विरोध प्रदर्शन किया गया। समिति के सदस्य HAU यूनिवर्सिटी के पार्क में इक्ट्‌ठे हुए। स्कूली बच्चे और युवा हाथों में बैनर लिए हुए थे, जिस पर लिखा है कि हरियाणा सरकार जवाब दो, कहां है रोजगार। शिक्षा है अधिकार, बंद करो इसका व्यापार।

वहीं इस मौके पर मास्टर विजय ने कहा कि प्रदेश में सरकारी स्कूलों को मर्जर के नाम बंद किया जा रहा है। सरकार को टीचर्स की कमी पूरी करनी चाहिए, न कि सरकारी स्कूल बंद करने चाहिएं। हमारी मांग है कि न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2021 को रद्द करने, HTET पास युवाओं को रोजगार दिया जाए। सरकार ने न्यू एजुकेशन पॉलिसी के नाम पर खतरनाक एक्ट पास किया है, यह गलत काम किया है। इसे कतई सहन नहीं किया जाएगा। इसके बाद युवाओं ने लघु सचिवालय तक मार्च निकाला।

सेवानिवृत्त कर्मचारी संघ जिला हिसार के जिला प्रधान ओम प्रकाश सैनी की अध्यक्षता में जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करके मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। वक्ताओं ने कहा कि हरियाणा सरकार ने विलय के नाम पर हजारों स्कूलों को बंद कर दिया है। हिसार में कई विद्यालयों के सामने बेटियां अपनी शिक्षा को बचाने के दिए धरना दिए हुए हैं। बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ का नारा देने वाली बीजेपी सरकार बेटियों की आवाज को अनसुना कर रही है। आबादी के हिसाब से और अधिक स्कूल खोलने की आवश्यकता है पर और स्कूल खोलने की बजाएं सरकार मौजूदा स्कूलों पर ताले लगाने पर उतारू है । संघर्ष समिति के पदाधिकारियों में बताया कि समय रहते विद्यालयों में अध्यापकों की कमी को दूर नहीं किया गया तो व्यापक एकता बनाते हुए आंदोलन को और अधिक तेज किया जाएगा।

विरोध प्रदर्शन में उपस्थित शहरवासी
विरोध प्रदर्शन में उपस्थित शहरवासी