पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्स छीनने का मामला:चालक समेत दाे काे 5-5 साल की सजा, 25-25 हजार रुपए जुर्माना

हिसार13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बार एसाेसिएशन के पूर्व प्रधान स्व. गाेरीशंकर अत्री की बेटी से छीनाझपटी के मामले में बुधवार काे एडीएसजे रेणु राणा की अदालत ने दाेषी दाेनाें आराेपियाें काे पांच-पांच साल की सजा सुनाई। साथ ही 25-25 हजार का जुर्माना भी लगाया गया। जुर्माना नहीं भरने पर दाेषियाें काे 6-6 माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी हाेगी।

बीती दाे अप्रैल 2019 काे रेंटल काॅलाेनी के रहने वाली ऊषा ने अर्बन एस्टेट थाने में शिकायत दी थी। इसमें कहा था कि वह बैंक से रुपये निकालकर गाड़ी में सवार हाेकर चालक मनीष के साथ लजीज वाटिका की तरफ से हाेते हुए घर जा रही थी। रास्ते में कार काे राेककर मनीष प्रेस के कपड़े लेने लगा।

इसी बीच एक युवक ऊषा से पर्स छीनकर भाग लिया। पर्स में तीन लाख 29 हजार रुपये, बैंक पासबुक और अन्य सामान थे। महाबीर काॅलाेनी के अनिल और गाड़ी चालक मनीष के खिलाफ धारा 379ए व 120बी के तहत केस दर्ज किया गया था। मामले की सुनवाई करते हुए 12 जुलाई काे काेर्ट ने दाेनाें आराेपियाें काे दाेषी करार दे दिया था। ऊषा अत्री मुकलान के राजकीय उच्च विद्यालय में हेड टीचर हैं।

खबरें और भी हैं...