• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • In Seven Months, The Foundation Of 1 Thousand Liters Per Minute Oxygen Generating Plant Was Not Even Laid, Fever And Pain Medicine Was Used In The Warehouse.

ये चिंताजनक है:सात माह में 1 हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन जनरेट प्लांट की नींव तक नहीं रखी, वेयर हाउस में बुखार व दर्द की दवा का

हिसार19 दिन पहलेलेखक: भूपेश मथुरिया
  • कॉपी लिंक
हिसार के सिविल अस्पताल में वैक्सीनेशन लगवाने के लिए लाइन में इंतजार करते लोग, मगर यहां लाइन में कोई सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आई। - Dainik Bhaskar
हिसार के सिविल अस्पताल में वैक्सीनेशन लगवाने के लिए लाइन में इंतजार करते लोग, मगर यहां लाइन में कोई सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आई।
  • गुरुवार को 36 और रोगी मिले, 6 दिन में जिले में कोरोना का आंकड़ा 100 पार, अभी 107 केस एक्टिव, थर्ड वेव से निपटने को इंतजाम नहीं पूरे
  • होम आइसोलेट रोगियों के घर से कचरा उठाने का प्रबंध नहीं

कोरोना की तीसरी लहर रफ्तार पकड़ रही है। बढ़ते आंकड़े बयां कर रहे हैं। विडंबना यह कि इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग के इंतजाम अभी तक अधूरे हैं। 2 ओमिक्रॉन और 64 अन्य कोरोना पेशेंट मिलने के बाद कोविड प्रबंधों संबंधित टीमों का गठन एक दिन पहले यानी 5 जनवरी को हुआ है। करीब सात माह बीतने के बावजूद मलेरिया विभाग के परिसर में अभी तक एक हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन जनरेट का प्लांट स्थापित नहीं हो पाया है।

इसकी नींव तक नहीं रखी है। ड्रग वेयर हाउस में बुखार और दर्द की दवाओं का टोटा है। यहां दोनों ही दवाइयां एक या दो दिन में आने की उम्मीद हैं। यह हालात देखते हुए सिविल अस्पताल परिसर स्थित दवा के सेंट्रल स्टोर द्वारा लोकल परचेचिंग करनी पड़ रही है।

पिछले ढाई माह में ई-टेंडर के माध्यम से 6 लाख पेरासिटामोल टेबलेट खरीदी हैं। अब 2 लाख और दवाइयों का बंदोबस्त किया जा रहा है। इक्का-दुक्का रोगी ही अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। अधिकांश संक्रमित रोगी होम आइसोलेट हैं। इसके बावजूद रोगियों के घर से कचरा उठाने की अलग से कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

नगर निगम की मानें तो स्वास्थ्य विभाग द्वारा रोगियों की लिस्ट मुहैया नहीं करवाई गई है। इसलिए किस घर में कोविड पेशेंट है, उसकी जानकारी नहीं है। इसलिए अलग से उनका कचरा उठाने की व्यवस्था नहीं हो सकी है। इन हालातों से अंदाजा लगा सकते हैं कि स्वास्थ्य विभाग के कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के दावे कितने सही हैं।

टीके का उत्साह सही मगर सोशल डिस्टेंसिंग भूलना गलत ... सिविल अस्पताल में वैक्सीनेशन साइट पर लाइनों में सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी

ड्यूटी रोस्टर तैयार, आईसोलेशन वार्ड में चस्पा किए पोस्टर

सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड की शुरुआत प्राइवेट वार्ड से की है। यहां कोविड पॉजिटिव व सस्पेक्टिड रोगियों को भर्ती किया जाएगा। यहीं पर बच्चों के लिए अलग से 8 बेड्स हैं। अगर दाखिल होने वाले रोगियों की संख्या बढ़ती है तो बेड्स की संख्या बढ़ाकर 100 की जाएगी।

आइसोलेशन वार्ड में 15 जनवरी तक सुबह, शाम व रात की शिफ्टवाइज ड्यूटी डॉ. सुनील सोखल, डॉ. खुशबू, डॉ. मनीष पचार, डॉ. मोहित ढांडा की लगाई है। यहां पर ऑन कॉल शिफ्टवाइज ड्यूटी डॉ. राम अवतार, डॉ. अंजू आर्य, डॉ. अजीत लाठर की लगाई है। इसके अलावा पैरामेडिकल स्टाफ भी नियुक्त कर दिया है।

  • स्वास्थ्य विभाग की तरफ से होम आइसोलेट रोगियों की कोई सूची नहीं मिली है। इसलिए अभी पता ही नहीं कि किन घरों में कोविड पेशंेट हैं और किन घरों में नहीं। जैसे ही हमसे सूची शेयर होती है, घरों से काेेविड वेस्ट अलग से उठाना शुरू कर देंगे। - सुभाष सैनी, सीएसआई नगर निगम।
  • आइसोलेशन वार्ड तैयार करके सुबह, शाम व रात की शिफ्ट वाइज डॉक्टर्स की ड्यूटी लगा दी गई है। अभी कोई भी रोगी एडमिट नहीं हुआ है। ऑन कॉल ड्यूटियां भी लगा दी हैं। - डॉ. गोविंद गुप्ता, पीएमओ सिविल अस्पताल।

सिविल अस्पताल में डॉक्टर व फार्मेसी ऑफिसर, एचएयू के प्रोफेसर, यूके में रिसर्चर, व्यवसायी, स्टूडेंट संक्रमित

कोरोना की तीसरी लहर ने महज 6 दिन में शतक पूरा कर 100 लोगों को संक्रमित कर दिया है। गुरुवार को 36 रोगी मिले हैं, जिनमें से 31 हिसार शहर की विभिन्न सेक्टर व काॅलोनियों में मिले हैं। अब सिविल अस्पताल में भी कोरोना फैल गया है। यहां पीएनडीटी नोडल ऑफिसर वासी राज दरबार स्पेस, फार्मेसी ऑफिसर एवं हरियाणा स्टेट फार्मेसी कौंसिल के सदस्य के अलावा सेक्टर 15 ए में रहने वाले एचएयू में कार्यरत प्रोफेसर, बरवाला के अस्पताल का डॉक्टर, अर्बन एस्टेट टू में एलआईसी कर्मी, सेक्टर 1-4 वासी यूके की रिसर्चर, पीएलए, मॉडल टाउन, सेक्टर-13, जिंदल लेबर काॅलोनी, प्रेम नगर में छात्र, व्यवसायी, गृहिणी, सीनियर सिटीजन संक्रमित मिले हैं। जिले में रिकवरी रेट घटकर 97.69 प्रतिशत है। जिले में तीसरी लहर में 110 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। फिलहाल 107 केस एक्टिव हैं।

हादसे में घायल, जांच की तो पॉजिटिव मिला, अग्रोहा में भर्ती

5 महीने बाद गुरुवार को मेडिकल कॉलेज अग्रोहा के कोविड हाॅस्पिटल में एक पॉजिटिव मरीज भर्ती हुआ है। चिकित्सकों ने बताया कि मरीज की हालत सामान्य है। मेडिकल के डीएमएस एव नोडल अधिकारी डॉ. राजीव चौहान ने बताया कि पिछले 2 दिन में सात कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले थे। जिन्हें सभी को होम आइसोलेशन में रखा गया है। गुरुवार को हादसे घायल युवक उपचार के लिए मेडिकल के आपातकालीन विभाग में आया। उसका कोरोना का टेस्ट करवाया तो वह पॉजिटिव पाया गया। उसे मेडिकल के कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है।

खबरें और भी हैं...