पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • In The First Four Months Of 2020, There Were 4 Positives And 0 Deaths. In 2021, 693 Were Found Infected And 19 Died.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरना महामारी:2020 के पहले चार माह में 4 पॉजिटिव और 0 डेथ थी 2021 में 693 संक्रमित मिले और 19 की हो चुकी मौत

हिसार13 दिन पहलेलेखक: भूपेश मथुरिया
  • कॉपी लिंक
  • 14 स्टूडेंट्स, 3 डॉक्टर व बैंक मैनेजर, कांस्टेबल, एचएयू में असिस्टेंट सहित 49 संक्रमित मिले,
  • कोविड नोडल ऑफिसर भी पॉजिटिव, एक और वृद्ध की मौत
  • डीसी बोलीं- संक्रमण बढ़ रहा, बचाव के लिए इवेंट्स में कोविड प्रोटोकॉल अपनाएं

कोरोना महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी है। पिछले साल पहले चार माह में कोरोना संक्रमित महज 4 रोगी और 0 डेथ केस थे। इसकी तुलना में इस साल 99.43 फीसद यानी 693 पॉजिटिव मिल चुके और 19 रोगी जान गंवा चुके हैं। कोरोना के चलते एक और रोगी ने दम तोड़ दिया।

लितानी वासी 62 वर्षीय वृद्ध की निजी अस्पताल में मौत हो गई है। 3 अप्रैल को संक्रमित होने पर अस्पताल में दाखिल हुए थे। तबीयत काफी बिगड़ने पर वेंटिलेटर पर रखा था, लेकिन जान नहीं बच पाई। ऐसे में अभी तक 338 रोगी जान गंवा चुके हैं। इधर, मलेरिया विभाग में नियुक्त कोविड नोडल ऑफिसर भी संक्रमित हुए हैं। कोरोना से बचाव की 2 डोज लगवा चुके थे। फिलहाल होम आइसोलेट हैं।

डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वे वैक्सीनेशन कार्यक्रम के साथ एहितयात में भी कमी न करें। संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए कोविड-19 से जुड़े दिशा-निर्देशों का पालन करें। वरिष्ठ नागरिक तथा पहले से अन्य बीमारियों से पीड़ित लोग अतिरिक्त सावधानी बरतें और तबीयत बिगड़ने पर अविलंब डॉक्टरों से संपर्क करें।

न्यू ऋषि नगर की वृद्धा की मौत और अंतिम संस्कार को लेकर बैठाई जांच

न्यू ऋषि नगर में कोरोना संक्रमित एक वृद्धा की मौत होने और उसके अंतिम संस्कार की चर्चा है। इस पर आईडीएसपी इंचार्ज डॉ. जया गोयल ने संज्ञान लिया है। स्वास्थ्य विभाग को सूचना दिए बगैर वृद्धा का अंतिम संस्कार हुआ है जोकि कोविड प्रोटोकॉल की उल्लंघना है।

डॉ. गोयल ने एमपीएचडब्ल्यू को मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा है। यह जाना जाएगा कि वृद्धा कब पॉजिटिव आई, कहां-कहां दाखिल थी, कब मृत्यु हुई और अंतिम संस्कार में कितने लोग शामिल थे। क्या उन्होंने सैंपलिंग करवाई है या नहीं, इसका पता किया जाएगा।

जानिए... कहां-कहां मिले नये संक्रमित

सोमवार को 49 और नये संक्रमित मिले हैं। इसमें लुदास, उकलाना मंडी, कुंभा-थुराना, प्रभुवाला, बुढाखेड़ा, पुलिस लाइन एरिया, आर्य नगर में 2, ढाणी खान बहादुर, ज्ञानपुरा, आजाद नगर, तरसेम नगर में रहने वाले 14 स्टूडेंट्स शामिल हैं।

इसके अलावा सेंट्रल जेल वन में कांस्टेबल, तोशाम रोड स्थित निजी अस्पताल का सेक्टर 16-17 में रहने वाला मैनेजर, आदर्श नगर एक्सटेंशन में कंसल्टेंट, मारवल सिटी में टीचर, सेक्टर-14 व उकलाना मंडी में 2 डॉक्टर, सेक्टर 16-17 में व्यवसायी, एचएयू में असिस्टेंट, डीएन कॉलेज एरिया में व्यवसायी, अग्रोहा मेडिकल काॅलेज में डॉक्टर, कोटक महेंद्रा बैंक में मैनेजर सहित सेक्टर 13, गंजा बाग हांसी, बांडाहेड़ी, सेक्टर 14, मुकलान, शिव काॅलोनी आदमपुर, लाजपत नगर, मोडाखेड़ा इत्यादि इलाकाें में पॉजिटिव रोगी मिले हैं। ऐसे में एक्टिव केसों की संख्या 257 पहुंच गई है।

इधर 3345 ने कोरोना से बचाव का टीका लगवाया

कोरोना वैक्सीनेशन जारी है। सोमवार को 3345 लाभार्थियों ने टीका लगवाया। इनमें 60 प्लस 1309 और 45 प्लस 1841 लोग शामिल हैं। वहीं, जिलेभर में 63443 ने पहला और 10 हजार 157 ने दूसरा टीका लगवाया है। वहीं अभी तक 60 प्लस 36157 और 45 प्लस 10967 लोग टीका लगवा चुके हैं। सभी सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण जारी रहेगा।

मनोचिकित्सक की पहल

लोगों का डर और भ्रम दूर कर टीका लगवाने के लिए प्रेरित कर रहीं

कोरोना से बचाव का टीका लगवाने से पहले और टीका लगवाने के बाद लोग अपना डर और भ्रम दूर करने के लिए मनोचिकित्सक के पास पहुंच रहे हैं। इनसे पूछ रहे हैं कि क्या वैक्सीन सुरक्षित है। इसे लगवाने पर स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव तो नहीं पड़ेगा। हमें कोरोना तो नहीं होगा।

ओपीडी में रोज आने वाले ऐसे 5 से 7 लोगों के सवालों का जवाब देकर मनोचिकित्सक डॉ. पूनम दहिया उनका डर व भ्रम दूर कर टीका लगवाने के लिए प्रेरित और महामारी से बचाव के लिए जागरूक कर रही हैं। डॉ. दहिया बताती हैं कि अब वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोग काउंसलिंग के लिए आने लगे हैं। इन्हें यही सलाह देते हैं कि टीका लगवाने के बाद दवा पर विश्वास रखें। नकारात्मकता की बजाय सकारात्मक सोच रखें जिससे दवा का असर बढ़ेगा और वैक्सीनेशन का डर व भ्रम दूर होगा।

पढ़िए लोगों के सवाल व डॉ. पूनम दहिया के जवाब

सवाल: क्या वैक्सीन सुरक्षित है ? जवाब- हजाराें लाेगाें ने कोरोना से बचाव का टीका लगवाया है, किसी को कोई तकलीफ नहीं है

Q. क्या वैक्सीन सुरक्षित है? A. हां, वैक्सीन सुरक्षित है। हजाराें लाेगाें ने टीका लगवाया है। किसी को कोई तकलीफ नहीं है। न ही वैक्सीन से किसी के स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव पड़ने की बात सामने आई है।

Q. क्या टीका लगवाने के बाद तबीयत बिगड़ती है? A. ऐसा जरूरी नहीं है। हल्का बुखार व घबराहट होने की संभावना है। दवा सेवन से एक-दाे दिन में ठीक हो जाते हैं।

Q. क्या टीका लगवाकर कोरोना से सुरक्षित हो जाएंगे? A. वैक्सीन की 2 डोज लगने के बाद कोरोना संक्रमण से काफी हद तक बचाव है। इससे शरीर में एंटी बॉडीज बनती हैं जोकि संक्रमण से लड़ती है। स्वास्थ्य पर पड़ने वाले कोरोना के भयावह दुष्परिणामों से बचाव होता है।

Q. क्या टीका लगवाने के बाद मुझे अन्य रोगों की दवा का सेवना करना चाहिए? A. हां, बिल्कुल दवा का सेवन कर सकते हैं। अन्य रोगों का ट्रीटमेंट डाॅक्टर की सलाह से जारी रखें। टीकाकरण साइट पर अपनी मेडिकल हिस्ट्री जरूर बताएं। टीका लगवाने के बाद भी डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Q. क्या सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण सुरक्षित है? A. यह आपकी मर्जी व सुविधा पर निर्भर करता है कि निजी अस्पताल में शुल्क देकर टीका लगवाना है या सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क में टीका लगवाना चाहते हैं। सभी टीकाकरण साइट पर वैक्सीन सप्लाई सिर्फ सरकारी वैक्सीन स्टोर से होती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें