• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Instead Of Ornamental Plants In The House, Pay Attention To Medicinal Plants, Which Help In Increasing Immunity Power.

हेल्थ अपडेट:घराें में सजावटी पाैधाें की बजाय औषधीय पाैधाें काे तवज्जो, जो एम्युनिटी पावर बढ़ाने में सहायक

हिसार21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तुलसी, गिलाेय, अदरक, परिजात सहित औषधीय पाैधाें की रोजाना बढ़ रही डिमांड

काेराेना की तीसरी लहर और ओमिक्राॅम के बढ़ते केसाें काे देखते हुए लाेग अब अपने घराें में सजावटी पाैधाें की बजाय औषधीय पाैधाें काे ज्यादा तवज्जो देने लगे हैं। इन दिनाें तुलसी, गिलाेय, हल्दी, साेंठ, परिजात, एलाेवेरा, असगंध, ब्राह्मी जैसे औषधीय पाैधाें की मांग बढ़ गई हैं। क्याेंकि यह पाैधे न केवल खांसी, जुकाम, बुखार आदि से राहत दिलाते हैं, बल्कि हमारी इम्युनिटी काे भी बूस्ट करते हैं। बस स्टैंड स्थित नर्सरी संचालक मदन लाल ने बताया की काेराेना की दूसरी लहर के बाद ज्यादातर लाेग सजावटी पाैधाें काे खरीदना पसंद करते थे।

मगर पिछले एक सप्ताह से कोरोना से बचाव के लिए लाेग तुलसी, गिलाेय, अदरक, परिजात आदि पाैधे खरीद रहे हैं। राेज वह बीस से तीस पाैधाें की सेल करते हैं। ताेशाम राेड स्थित नर्सरी संचालक विनाेद ने बताया कि संक्रमण से बचने के लिए लोग अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा बनाने के लिए तुलसी और गिलाेय के पाैधे की डिमांड कर रहे हैं। पिछले 4 महीनाें से जहां एक तरफ काम कम हाे गया था और दिन में केवल दाे हजार की ही सेल मुश्किल से पाती थी। वहीं अब इन पाैधाें की एकदम से डिमांड बढ़ गई है। वह राेज तीन से चार हजार की सेल कर देते हैं।

सही तरीके से हाे इस्तेमाल, बीमारियों से होगा छुटकारा
तुलसी : तुलसी की हरी पत्तियों का सेवन करने से सर्दी, खांसी, जुकाम, सिर दर्द जैसी अनेक बीमारियों से लाभदायक हाे सकती है। खांसी जुकाम होने पर तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च से तैयार की हुई चाय पीने से लाभ मिलता है।
गिलोय : यह पौधा एक शामक औषधी है। जिसका ठीक तरह से प्रयोग करने पर कफ, खांसी, पित्त से होने वाली बीमारियों से छुटकारा मिलता है। गिलोय के इस्तेमाल करने से इम्युनिटी पावर ठीक होता है।
एलोवेरा: यह एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। जो इम्युनिटी पावर को ठीक करने के साथ-साथ ब्लड शुगर, एसिडिटी को कम करने में मदद करता है। एलोवेरा में विटामिन ए व सी और ई काफी मात्रा में पाए जाते हैं। एलोवेरा रक्त का संचार बढ़ाने में भी सहायक होता है।
परिजात : यह बहुत उत्तम औषधि है इसका इस्तेमाल करने से बुखार, पाचनतंत्र, लिवर सम्बंधित बीमारियों से निजात मिलता है। परिजात का पौधा खांसी के लिए आयुर्वेदिक दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। जिससे काफी लाभ भी मिलता है। इसके छाल के चूर्ण से खांसी में बहुत जल्दी आराम मिलता है।

खबरें और भी हैं...