पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना काल:ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं और सैंपलिंग बढ़ाने के दिए निर्देश

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वैश्विक कोरोना महामारी के मद्देनजर गठित की जिला परामर्शदात्री समिति ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर चिंता जताते हुए स्वास्थ्य सुविधाएं तथा सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए है। डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की अध्यक्षता वाली समिति ने गुरुवार को प्रशासनिक व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान सरकारी अस्पतालों में 100 बिस्तर बढ़ाए जाने की संभावनाओंं पर भी मंथन किया।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से समिति सदस्यों को अवगत करवाया गया कि यदि अतिरिक्त ऑक्सीजन उपलब्ध हो तो सरकारी अस्पतालों में बिस्तर बढ़ाए जा सकते हैं। इस अवसर पर डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा, विधायक डॉ. कमल गुप्ता, मण्डलायुक्त चन्द्रशेखर व उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने जिंदल मॉडर्न स्कूल में अस्थायी अस्पताल का भी दौरा किया। इस दौरान वहां चल रहे विभिन्न कार्यों की प्रगति की समीक्षा की गई।

अस्थायी अस्पताल में बिस्तराें तक पहुंची ऑक्सीजन लाइन अस्थाीय अस्पताल में स्थापित काफी बिस्तरों तक ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए कनेक्शन कर दिए गए हैं। समिति सदस्यों ने कहा कि इस अस्पताल के सभी प्रबंधों को जल्द पूरा किया जाए। इसके लिए अलग-अलग शिफ्ट में 24 घंटे कार्य किया जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण के मामलों पर डिप्टी स्पीकर ने कहा कि पूरे जिले में ऐसे गांवों को चिह्नित किया जाए जहां महामारी का प्रकोप ज्यादा है। जिले में कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य में भी तेजी लाई जाए। उपायुक्त ने कहा कि लुवास में एक हजार अतिरिक्त सैंपल की जांच के लिए प्रयोगशाला जल्द संचालित हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...