हिसार में केंद्र सरकार का पुतला फूंका:टोल पर किसानों और पुलिस के बीच धक्का मुक्की, कल किसान मीटिंग करके लेंगे फैसला

हिसार4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार टोल प्लाजा पर किसानों ने केंद्र सरकार का पुतला फूंका। - Dainik Bhaskar
हिसार टोल प्लाजा पर किसानों ने केंद्र सरकार का पुतला फूंका।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर बाडोपट्टी टोल कमेटी ने सुबह 11 बजे से 3 बजे तक चार घंटे धरना-प्रदर्शन किया गया। केंद्र सरकार के पुतले को लेकर किसानों और पुलिस में धक्का मुक्की हुई। जिस पर किसानों ने नाराजगी जताई।

बाडोपट्टी टोल कमेटी के वरिष्ठ किसान नेता राजू भगत सरसोद ने बताया कि 9 दिसंबर 2021 के दिन केंद्र ने अन्य बातों के अलावा न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी के लिए कमेटी बनाने का वायदा किया गया था। 8 महीने के बाद अब एक ऐसी कमेटी की घोषणा हुई है जिसमें न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी का तो उल्लेख मात्र भी नहीं है । यह अपने आप में एक फर्जीवाड़ा है जिसे लेकर देश भर के किसानों में भारी रोष व्याप्त है । इस विश्वासघात के खिलाफ हमें आंदोलन को तेज करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है।

लखीमपुर खीरी मे आंदोलनकारी किसानों को गाड़ी से कुचलकर मारने के कुख्यात कांड के लिए जिम्मेदार अजय मिश्रा टेनी को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पद से भी नहीं हटाया गया और निर्दोष किसानों को जेल में डाल दिया है।

किसानों ने पुलिस पर के साथ धक्का मुक्की के आरोप लगाए। किसान नेताओं को धक्के मारे गए। बाडोपट्टी टोल कमेटी ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की।कल संयुक्त किसान मोर्चा,हिसार की मीटिंग करके इस घटना पर ठोस निर्णय लिया जाएगा। इस मौके पर ओमप्रकाश कोहली तलवंडी राणा,बलवान बैनीवाल,नरेश भ्याण सरसोद, राजू भगत सरसोद,ईश्वर बाड्डोपट्टी, ईश्वर ग्रेवाल,मास्टर महेंद्र सिंह पुनिया ,दयानंद ढूकिया,चंदगीराम सिहाग,कलीराम खेदड़,सत्येंद्र सहारण,सरदानन्द राजली,रीमन नैन खेदड़,अंकित रेड्डू,बलजीत पंघाल,दलवीर पाबड़ा,संदीप जुगलान,मास्टर सुभाष,शेरु सलपंच खेदड़,भजनलाल बहबलपुर, राजू पहलवान खेदड़, राममेहर सोथा,सुरेश सोथा,रमेश जुगलान, रवि ब्याणा खेड़ा, धूपसिंह सरसौद,रोहतास राजली,अंग्रेज बूरा बधावड़, महासिंह सिंधु, सविन शर्मा,केशर पंघाल,सत्यवान खेदड़,चंद्रो,अंग्रेजों,बूरो देवी,चंद्रपति बिच्छपड़ी,खुजानी शामिल रहे।

साथ ही रामायण टोल, लांधडी टोल, चौधरीवास, बास टोल भी 11 से 3 बजे तक फ्री रहेगा। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने इन टोल पर पुलिस तैनात करने का फैसला लिया है। वहीं किसान संगठनों ने हिसार के लघु सचिवालय में केंद्र सरकार का पुतला फूंका।

प्रवक्ता सरदानंद राजली ने बताया कि बाडोपट्टी टोल कमेटी के 58 गांवों के किसान-मजदूरों से अपील थी कि सुबह 10:30 बजे बाडोपट्टी टोल प्लाजा पर ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचे और केंद्र सरकार की वादाखिलाफी के विरोध स्वरूप अपनी आवाज को बुलंद करें, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।