• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Jesse Checked Cleanliness In Ward 15, People Come After 5 Days To Sweep And Pick Up Garbage, 80 Thousand Fined

सफाई काे लेकर हालात बिगड़े:जेसी ने वार्ड 15 में जांची सफाई, लाेग बाेले - 5 दिन बाद आते हैं झाडू लगाने व कूड़ा उठाने, 80 हजार लगाया जुर्माना

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एजेंसी के सुपरवाइजर ने कहा कि ऐसा नहीं, जेसी ने पूछा एक भी गली ऐसी दिखा दाे जहां तुम्हे शाबाशी मिले

ठेकेदार काे जिन वार्डाें की सफाई का टेंडर दिया हुआ है उनमें सफाई काे लेकर हालात बिगड़े हुए हैं। कमिश्नर के निरीक्षण के बाद गुरुवार काे ज्वाॅइंट कमिश्नर ने वार्ड 15 की तीन काॅलाेनियाें में सफाई काे लेकर निरीक्षण किया। उन्हाेंने सफाई शाखा के अधिकारियाें काे साथ लेकर गलियाें में घूमकर महिलाओं व माेहल्लेवासियाें से फीडबैक लिया।

महिलाओं ने शिकायत की कि मैडम यहां कभी तीन दिन में ताे कभी पांच दिन बाद झाड़ू लगाई जाती है। कचरा उठाने में भी तीन से चार दिन का समय लगता है। आखिर तीन से चार दिन का कचरा लाेग घराें में कैसे रखेंगे। जेसी ने जयदेव नगर ढाणी, इंद्रा नगर व छाेटूराम काॅलाेनी के गलियाें में घूमकर फीडबैक लिया।

हालांकि एजेंसी के सुरपरवाइजर व निगम के अधिकारी सफाई देते रहे। सूचना पर पार्षद प्रीतम सैनी भी पहुंच गए। उन्हाेंने माेहल्ले के हालात दिखाए और कहा कि मैडम ठेकेदार काेई काम नहीं कर रहा। सुपरवाइजर ने कहा कि मैडम काम ताे कर रहे हैं। इस पर जेसी ने स्पष्ट कहा कि मान लेते हैं एजेंसी काम कर रही है एक काम कराे आप काेई ऐसी गली में ले चलाे जहां साफ सफाई अच्छी हाे और लाेग आपकाे शाबाशी दें कि आप अच्छा काम कर रहे हैं। इस बात पर एजेंसी सुपरवाइजर ने चुपी साध ली।

जेसी ने माैके पर सीएसआई व अन्य स्टाफ काे निर्देश दिए कि जहां कूड़े के ढेर लगे हैं उसके हिसाब से कैलकुलेट कर जुर्माना लगाया जाए। यह भी कहा कि शाम काे सीएसआई यह जांचे की निरीक्षण के बाद काम हाे पाया या नहीं। उन्हाेंने ये भी कहा कि 10 दिन बाद दाेबारा एरिया का निरीक्षण किया जाएगा।

इधर, ठेकेदार ने भेजी जेसी काे यूजर चार्जेज की रिपाेर्ट

ठेकेदार ने यूजर चार्जेज काे लेकर नगर काे रिपाेर्ट भेज दी है। यह रिपाेर्ट सफाई शाखा ने ज्वाॅइंट कमिश्नर काे साैंप दी है। हालांकि जेसी बैलिना का कहना है कि रिपाेर्ट आ चुकी है मगर अभी इसे पढ़ा नहीं गया है। पढ़ने के बाद ही पता चल पाएगा कि इसमें क्या गलत है और क्या सही है।

राेड स्वीपिंग मशीन पर भी पांच हजार जुर्माना लगाया

निरीक्षण के बाद जहां कूड़े के ढेर लगे मिले उन्हें काउंट कर एएसआई ने एजेंसी काे जुर्माना लगाया है। उन्हाेंने 80 हजार रुपए का जुर्माना एजेंसी पर लगाया है। इसके अलावा सीएसआई ने 5 हजार रुपए जुर्माना राेड स्वीपिंग मशीन चलाने वाली एजेंसी पर लगाया है। सफाई शाखा के अधिकारियाें ने बताया कि राेड स्वीपिंग मशीन संचालक काे लक्ष्मीबाई चाैक से लेकर जिंदल चाैक तक सफाई के निर्देश दिए थे मगर सफाई नहीं हाे पाई।

खबरें और भी हैं...