हिसार के जज करेंगे लखीमपुर हिंसा जांच की निगरानी:पूर्व विधायक गुलाब सिंह के बेटे हैं राकेश कुमार, शहर की जैन गली में रहता परिवार

हिसार8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा की जांच करने के लिए नियुक्‍त किए गए रिटायर्ड जज राकेश कुमार जैन हिसार के रहने वाले हैं। उनका परिवार अब भी शहर की जैन गली और प्रीति नगर में रहता है। वकीलों के परिवार से संबंध रखने वाले आरके जैन के पिता गुलाब सिंह जैन हिसार के विधायक रह चुके हैं और शहर के बाजार में उनके पिता के नाम पर चौक भी बना हुआ है। पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट से सेवानिवृत हुए राकेश जैन लंबे समय तक न्‍यायिक क्षेत्र से जुड़े रहे। राकेश कुमार जैन के परिवार के अन्‍य लोगों का व्‍यवसाय और निवास स्‍थान भी हिसार में है। राकेश हिसार आते जाते रहते हैं।

जस्टिस आरके जैन का जन्म 1 अक्टूबर 1958 को हिसार में वकीलों के परिवार में हुआ था। उनके पिता गुलाब सिंह जैन, एक आयकर अधिवक्ता और हिसार से 1972-1977 तक विधायक थे। बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई पूरी करने के बाद उनका मई 1982 में बार काउंसिल ऑफ पंजाब हरियाणा में एक वकील के रूप में रजिस्ट्रेशन हुआ था। उन्होंने हिसार की जिला अदालत में भी प्रैक्टिस की थी। जनवरी 1983 में वे पंजाब हरियाणा उच्च न्यायालय में चले गए, जहां उन्होंने दीवानी, आपराधिक और राजस्व पक्ष में 25 वर्षों तक प्रैक्टिस की। वे दो बार उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन की कार्यकारी समिति के सदस्य बने रहे। उन्हें 5 दिसंबर, 2007 को पंजाब हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में प्रमोट किया गया और 30 सितंबर 2020 को वे सेवानिवृत्त हुए।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को लखीमपुर हिंसा मामले पर सुनवाई हुई। इस दौरान शीर्ष कोर्ट ने लखीमपुर खीरी घटना की SIT जांच की निगरानी के लिए पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस राकेश कुमार जैन को नियुक्त किया। इसके अलावा यूपी सरकार को एक महिला पुलिस अधिकारी सहित तीन वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों को SIT में शामिल करने का भी आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि SIT जस्टिस जैन की देखरेख में अपनी जांच जारी रखेगी।

भाजपा मंत्री के बेटे गत 3 अक्टूबर को यूपी के लखीमपुर में विरोध कर रहे किसानों को कुचलकर मारने का आरोप है। इसके बाद भड़की हिंसा में पांच अन्य लोगों की मौत हुई थी।