जन जागरण अभियान:पंजाब से नशाखोरी को खत्म करने को अभियान चलाएगी काजला खाप, संगरूर के गांव भूटाल कलां में राष्ट्रीय सम्मेलन

हिसार9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इसमें पंजाब सहित हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, यूपी व उत्तराखंड के काजला बंधुओं ने भाग लिया
  • सम्मेलन में खाप के राष्ट्रीय संरक्षक धर्मवीर काजला मुख्यातिथि थे

पंजाब से नशाखोरी को जड़मूल से उखाड़ फेंकने के लिए राष्ट्रीय काजला खाप जन जागरण अभियान चलाएगी। यह निर्णय जिला संगरूर के गांव भूटाल कलां स्थित बीके मैरिज पैलेस में रविवार को आयोजित खाप के राष्ट्रीय सम्मेलन में लिया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता खाप के अध्यक्ष राजमल काजल ने की। इसमें पंजाब सहित हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, यूपी व उत्तराखंड के काजला बंधुओं ने भाग लिया। सम्मेलन में खाप के राष्ट्रीय संरक्षक धर्मवीर काजला मुख्यातिथि थे।

सम्मेलन में उपस्थित काजला बंधुओं को खाप के पूर्व निर्णय की याद दिलाते हुए दोहराया गया कि बलात्कार या कन्या भ्रूण हत्या जैसे संगीन अपराध में अगर कोई दोषी पाया गया तो उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। दहेज की मांग न करने, उत्सवों में सार्वजनिक स्थानों पर डीजे का प्रयोग न करने और हर्ष फायरिंग पर रोक लगाने का निर्णय भी सम्मेलन में लिया गया। सम्मेलन में सर्वसम्मति से पारित एक अन्य प्रस्ताव में अब तक की सभी केंद्रीय सरकारों पर किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य न देने और कृषि क्षेत्र की अनदेखी करने का आरोप लगाया गया। सम्मेलन में मीडिया के कोराना याेद्धाओं व काजला गोत्र की उन विभूतियों को सम्मानित किया गया, जिन्होंने विभिन्न क्षेत्राें में उत्कृष्ट प्रदर्शन करके काजला गौत्र का नाम चमकाने का काम किया। सम्मेलन में संरक्षक धर्मवीर काजला, राष्ट्रीय अध्यक्ष राजमल काजल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कैप्टन रामपाल, सलाहकार सूरजभान, पंजाब के अध्यक्ष डॉ मनोज काजल, नायब सिंह काजल, प्रमोद काजल, लीलाराम क्रोदा, मनदीप सिंह झांडी, सुभाष बंगा, राजेश बंगा व प्रदीप काजल ने विचार रखे और भाईचारा बनाए रखने व सामाजिक कुरीतियों से दूर रहने का आह्वान किया।

दूहन खाप के महासम्मेलन में हुआ फैसला, सामाजिक कार्याें काे दिया जाएगा बढ़ावा

दूहन खाप के महासम्मेलन में फैसला लिया गया कि सामाजिक कार्याें काे बढ़ावा दिया जाएगा। उक्त जानकारी देते हुए पूर्व जिला बागवानी अधिकारी डाॅ. भूपेंद्र सिंह दूहन ने बताया कि करेला गांव में हुए महासम्मेलन में 90 गांवाें के अलावा अन्य राज्याें से भी दूहन गाेत्र के लाेग पहुंचे। इस दाैरान अत्तर सिंह दूहन काे कार्यकारी प्रधान बनाया गया है तथा प्रत्येक साल 7 मार्च काे दूहन खाप का स्थापना दिवस मनाया जाएगा। इस अवसर पर आजाद सिंह, जस्सी पेटवाड़, रेणु दूहन, साेमवीर, जयनारायण कटवाल, सत्यवान, सुरेंद्र साेनू समेत दूहन गाेत्र के गणमान्य लाेग माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...