5 हजार पशुओं की काेराेना सैंपलाें की जांच में खुलासा:गाय, भैंस, घाेड़ा व बिल्ली में नहीं मिला काेराेना का डेल्टा और यूके वैरिएंट

हिसार10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • 5 हजार पशुओं की काेराेना सैंपलाें की जांच में खुलासा

मनुष्य में हाेने वाले काेराेना के डेल्टा और यूके वेरिएंट पशुओं में नहीं पहुंचा हैं। वेरिएंट पशुओं से मनुष्य में पहुंचा या फिर अब मनुष्य से पशुओं में पहुंच रहा है, इसकी जांच के लिए आईसीएआर के अधिकारियाें ने देशभर के 5 हजार पशुओं के सैंपल काेराेना की जांच के लिए लिए थे। हिसार के अश्व अनुसंधान केंद्र के साथ साथ, भाेपाल, बंगलुरु के रिसर्च सेंटर काे काेराेना से निजात के लिए दवाई बनाने का प्राेजेक्ट साैंपा है।

आईसीएआर पशु विज्ञान के उप महानिदेशक डाॅ. बीएन त्रिपाठी ने बताया कि पशुओं में मनुष्य वाले काेराेना वायरस का एक भी केस नहीं आया है। हालांकि गाय-भैंस में बाेवाइन, घाेड़ाें में इक्वाइन तथा कुत्ताें में कैनाइन काेराेना वायरस के करीब 50 से अधिक मामले आए हैं।

सबसे अधिक खरतनाक है डेल्टा वेरिएंट
डाॅ. मनीष कुमार बताते हैं कि दूसरी लहर में सबसे अधिक डेल्टा वेरिएंंट के ही केस सामने आए। काेराेना का डेल्टा वैरियंट एंटी बाॅडी काे प्रभावित करता है। यह सेल टू फ्यूजन काे प्रेरित करने की क्षमता में वृद्धि करता हैं। फेफड़ाें काे भी प्रभावित करता है।

खबरें और भी हैं...