पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी लापरवाही:न्यू ऋषि नगर में संक्रमित वृद्धा का हुआ था अंतिम संस्कार, 35 परिजन-परिचित हुए थे शामिल

हिसार9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आईडीएसपी विंग की कोविड रेपिड रिस्पोंस टीम की जांच में खुलासा

आईडीएसपी विंग की कोविड रेपिड रिस्पोंस टीम की जांच में खुलासा हुआ है कि न्यू ऋषि नगर में संक्रमित वृद्धा का विभाग को सूचना दिए बगैर ही अंतिम संस्कार कर दिया था। दिवंगत के अंतिम संस्कार में 35 परिजन व परिचित शामिल हुए थे।

आईडीएसपी इंचार्ज डॉ. जया गोयल ने स्वास्थ्य कर्मियों को जांच करके रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा था। इसमें सामने आया कि महिला का एक बार हिसार व दूसरी बार मेदांता में सैंपल लैब में टेस्ट हुआ था जिसमें पॉजिटिव की पुष्टि हुई थी। हिसार शहर की लैब में 16 मार्च को सैंपल टेस्ट हुआ था। उसमें सिरसा का पता दिया था। यह निजी अस्पताल में दाखिल हुई थी।

इसे मेदांता में दाखिल करवाया था। वहां पर 25 मार्च को सैंपल टेस्ट करवाते हुए हिसार का एड्रेस लिखवाया था। जब आईडीएसपी विंग के पास पोर्टल पर महिला की डिटेल दिखी तो इसकी जानकारी मिली। उस दिन मृत्यु हो चुकी थी और अंतिम संस्कार भी। ऐसे में अंतिम संस्कार में शामिल हुए परिजनाें-परिचितों का पता लगा सैंपल लिए जाएंगे या नहीं, इस पर बुधवार को फैसला होगा।

इधर...बायोलॉजिस्ट ने मेले के आयोजन पर उठाया सवाल

पुराना राजकीय कॉलेज मैदान में लगने वाले मेले पर बायोलॉजिस्ट डॉ. रमेश पूनिया ने सवाल उठाया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से मामले पर संज्ञान लेने की अपील की है। डॉ. पूनिया का कहना है कि ऐसे मेले में सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचेंगे।

कोविड प्रोटोकॉल भी टूटेगा। वैसे भी इन दिनों कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। हालांकि सामूहिक कार्यक्रमों पर डीसी ने कहा था कि अगर कोविड प्रोटोकॉल टूटता है तो नियमानुसार कार्रवाई होगी। इन कार्यक्रमों पर निगरानी के लिए टीमों का गठन किया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें