भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद:इग्नाइट आईडिएशन में लुवास के छात्रों ने पाया तीसरा स्थान

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी, हैदराबाद द्वारा आयोजित इग्नाइट 2.0 राष्ट्रीय स्तर आईडिएशन प्रतिस्पर्धा में लुवास के स्नातकोत्तर छात्रों ने तीसरा स्थान हासिल कर परचम लहराया। लुवास के डॉ. रोहित शर्मा (पीएचडी स्कॉलर, पशु आनुवंशिक और प्रजनन विभाग), डॉ. उमेश कुमार जायसवाल (एम.वी.एस.सी स्कॉलर, पशु चिकित्सा पशुपालन और विस्तार शिक्षा विभाग) और डॉ. मोहम्मद ईशान हाशमी (एम.वी.एस.सी स्कॉलर, पशुधन उत्पादन और प्रबंधन विभाग) टीम का हिस्सा थे। लुवास कुलपति प्रोफेसर डॉ. विनोद कुमार वर्मा ने छात्रों को हार्दिक बधाई दी। छात्रों से बातचीत करते हुए कुलपति ने उनके कांसेप्ट की जानकारी ली। स्टार्ट अप को आगे लेकर जाने के लिए प्रेरित किया। देश के 150 शीर्ष संस्थानों जैसे कृषि विश्वविद्यालयों, आईआईटी, आईआईएम और अन्य प्रसिद्ध संस्थानों की कुल 211 टीमों ने भाग लिया। प्रतियोगिता तीन राउंड में आयोजित की गई थी, पहले 2 राउंड ऑनलाइन थे और फाइनल राउंड हैदराबाद में 6 अगस्त, को ऑफलाइन मोड के माध्यम से हुआ। आखिरी राउंड में टॉप 10 टीमों को शॉर्टलिस्ट कर आमंत्रित किया गया था। अपने प्रेजेंटेशन के दौरान उन्होंने डिजिटल कार्यप्रणाली पर एक अवधारणा नोट प्रस्तुत किया। जिसके माध्यम से ऑन स्पॉट पहचान, रिकॉर्ड कीपिंग, स्वास्थ्य निगरानी और जानवरों की लाइव ट्रैकिंग की जा सकती है। जानवरों की डिजिटल पहचान किसानों और पशु चिकित्सकों को बीमारी की निगरानी करने और महामारी के दौरान पशु चिकित्सकों को अधिक तेज़ी से कार्य करने में सक्षम बनाएगी। टॉप तीन विजेता टीमों को प्रमुख सचिव, उद्योग और वाणिज्य विभाग, तेलंगाना सरकार और निदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद - राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी की तरफ से प्रमाण पत्र और नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके तहत छात्रों को एक स्टार्टअप के रूप में आमंत्रित किया गया है और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रबंध अकादमी द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। कुलपति डॉ. विनोद कुमार वर्मा ने छात्रों की इस उपलब्धि पर उन्हें सम्मानित किया। डॉ. गुलशन नारंग, डॉ. एस. पी. दहिया, ए.जी.बी. विभाग, डॉ. जिले सिंह मलिक, वेटरनरी विस्तार शिक्षा विभाग के अध्यक्ष डॉ. गौतम, डॉ. अशोक मलिक उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...