रामायण टोल पर सम्मान समारोह आयोजित:राकेश टिकैत बोले : अगर अलग हुए जो MSP का लड़ाई अधूरी रह जाएगी, संघर्ष जारी रहेगा

हिसार5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामायण टोल पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल लोग - Dainik Bhaskar
रामायण टोल पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल लोग

मंगलवार को रामायण टोल पर सम्मान समारोह में पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि अब कुछ लोग पंजाब से एसवाईएल का पानी लेने की बात कर रहे है जोकि गलत बात है। ये समय पानी की बात करने का नहीं है। अभी एमएसपी की लड़ाई बाकी है। टिकैत ने कहा कि ये सरकार बहुत खतरनाक है अगर टूट गए तो एक एक को चुन-चुन के मारेगी। अब हरियाणा पंजाब ,यूपी, दिल्ली और राजस्थान मिलकर पूरे देश के किसानो की लड़ाई लड़ेंगे। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक में इस बारे में फैसले लिए जाएंगे। लखीमपुर खीरी की घटना पर टिकैत ने कहा कि SIT ने माना है कि साजिश के तहत किसानो को मारा गया इसलिए अजय मिश्र टेनी को अब इस्तीफा दे देना चाहिए

कार्यक्रम में पहुंची महिलाएं
कार्यक्रम में पहुंची महिलाएं

कार्यक्रम में भाग लेने के लिए काफी संख्या में किसान जुटे थे और इनमें महिलाओं की संख्या काफी ज्यादा थी। किसान नेता युद्धबीर सिंह कार्यक्रम में शाम तीन बजे पहुंचे थे। इससे पहले किसान नेताओं ने जींद के खटकड़ टोल पर कार्यक्रम निपटाया है जिस कारण से उनको यहां पहुंचने में काफी देरी हो गई थी। अपने संबोधन में युद्धबीर सिंह ने कहा कि सरकार ने अलग-अलग हथकंडे अपनाकर आंदोलन को कमजोर करने का प्रयास किया लेकिन किसान मजबूती से डटे रहे जिस कारण से सरकार को अपनी हार माननी पड़ी।

कार्यक्रम में पहुंचे किसान नेता युद्धबीर सिंह
कार्यक्रम में पहुंचे किसान नेता युद्धबीर सिंह

हिसार का रामायण टोल पूरे किसान आंदोलन का केंद्र बिंदु रहा है और नेताओं का सबसे ज्यादा विरोध व किसानों का सबसे अधिक जमावड़ा भी इसी टोल पर होता रहा है। इस टोल पर बीते एक साल से किसानों ने अपना डेरा जमाया हुआ है। यह टोल सिरसा से दिल्ली जाने वाले हाईवे पर हांसी शहर से पहले बना हुआ है।