पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमण:मासिक पॉजिटिविटी रेट 43.6 फीसदी पहुंचा जो पिछले साल से 4 गुना ज्यादा

हिसार23 दिन पहलेलेखक: भूपेश मथुरिया
  • कॉपी लिंक
कोरोना के केस घटने के साथ अस्पतालों पर दबाव कम हुआ है। सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में बेड्स खाली होने लगे हैं। अब करीब 40 मरीज दाखिल हैं। - Dainik Bhaskar
कोरोना के केस घटने के साथ अस्पतालों पर दबाव कम हुआ है। सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में बेड्स खाली होने लगे हैं। अब करीब 40 मरीज दाखिल हैं।
  • 518 जानें छीनी कोरोना ने मई के 29 दिन में
  • 15 मई से लगातार घट रही संक्रमितों की संख्या, रिकवरी रेट बढ़कर अब 94.13 फीसदी पर पहुंचा

कोरोना महामारी ने मई माह के 29 दिन में कहर बरपाया है। इन्हीं दिनों में सर्वाधिक 22971 संक्रमित मिले और 518 रोगियों को जान गंवानी पड़ी। 29 में से 27 दिन ऐसे हैं जिनमें रोज मृत्यु का आंकड़ा 10 प्लस रहा है। इसके साथ ही मासिक पॉजिटिविटी रेट 43.6 फीसदी तक पहुंचने से रेड अलर्ट की स्थिति तक पैदा हुई है। यह दर पिछले रिकॉर्ड से करीब 4 गुना अधिक है। पिछले साल नवंबर में सबसे ज्यादा 10.9 फीसद दर थी।

इतना ही नहीं मार्च 2020 से अप्रैल 2021 तक 29755 संक्रमित मिले थे और 447 ने जान गंवाई थी। बाकी केस व मृत्यु मई माह में हुई है। हालांकि 15 मई से कोरोना की चेट टूट रही है। इससे संक्रमितों की संख्या घटने के साथ रिकवरी रेट में काफी इजाफा हुआ है। इसका मुख्य कारण सर्वाधिक सैंपलिंग व लोगों का जागरूकता है। बीते साल दिसंबर में सबसे ज्यादा 80 हजार सैंपल लिए थे लेकिन मई में रिकॉर्ड तोड़ एक लाख 5 हजार 600 सैंपल लिए जा चुके हैं।

डीसी बोलीं: कोरोना की टूट रही चेन सावधानी बरतें

डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने बताया कि कोरोना की चेन टूट रही है। जिले का रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है। पिछले कई दिन से संक्रमण मामलों में कमी दर्ज की जा रही है। कुछ दिनों पहले जिले का रिकवरी रेट 75 प्रतिशत के आसपास बना था अब वह 94.13 फीसदी हो गया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाने के लिए नागरिकों मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, हाथों की बार-बार सफाई आदि की दृढ़ता से पालना करनी होगी। कोरोना की चेन जुड़ने नहीं देने के लिए सावधानी बरतें।

खबरें और भी हैं...