हिसार सांसद ने की दिशा कमेटी की समीक्षा:बृजेंद्र सिंह ने ई- नेम और उज्जवला योजना पर अधिकारियों को लगाई लताड़

हिसार5 महीने पहले
सांसद बृजेंद्र सिंह प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मीटिंग करते हुए।

हरियाणा के हिसार जिले में जिला विकास एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक का शनिवार को सांसद बृजेंद्र सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सांसद बृजेंद्र सिंह ने आधी अधूरी जानकारी होने पर अधिकारियों को लताड़ लगाई। मीटिंग में कुल 27 एजेंडों पर रखा गया।

पहले एजेंडे में रेलवे के विकास कार्यों को लेकर सांसद ने अधिकारियों से पूछा। सांसद ने न्योली कला स्टेशन का टेंडर हो चुका है, परंतु वर्क शुरू नहीं हुआ। तब रेलवे अधिकारी ने कहा कि दो महीने में पूरा कर देंगे। तब सांसद ने कहा कि जल्दी वाली भाषा ना प्रयोग किया। तब रेलवे अधिकारी ने कहा कि 15 नवंबर 2022 तक पूरा कर देंगे।

रेलवे अधिकारी ने कहा कि सूर्यनगर के पास घोडा फार्म रेलवे के पास गंदगी डालते है। तब सांसद ने नगर निगम को आदेश दिए कि वे सफाई में सहयोग करवाएं।सांसद ने कहा कि हांसी- बरवाला रोड पर बड़े- बड़े ट्रक चलते हैं। सड़क की हालत खराब है। इस हालत को ठीक करवाया जाए। तब एनएचएआई के अधिकारी ने बताया कि यह दूसरे भिवानी डिवीजन के पास है। तब सांसद बृजेंद्र सिंह ने डीसी उत्तम सिंह ने अधिकारियों से संपर्क करके इसे ठीक करवाने के लिए कहा।

अग्रोहा सर्विस लेन का मामला उठा

नेशनल हाइवे नंबर 9 पर अग्रोहा के पास सर्विस लेन टूटी हुई है। तब राज्यसभा सांसद डीपी वत्स ने कहा कि इसका स्टेट्‌टस पता करें, रेजिडेंशियल को पैसा मिल चुका है। तब एनएचएआई अधिकारी ने कहा कि वो पैसा अभी कोर्ट में जमा है। सांसद ने कहा कि वे पूरा स्टेट्‌टस पता करें।

सांसद के समक्ष बीएसएनएल के एसडी ने बताया कि 314 ग्राम पंचायतों को फाइबर नेटवर्क से जोड़ा जा रहा है। काम चल रहा है। जल्द ही 4 जी सर्विस लांच होगी। सांसद बृजेंद्र सिंह ने कहा कि बीएसएनएल को भारत सरकार 150 करोड़ दे रही है। मुझे शक रहता है बीएसएनएल क्या कर रहा है। जब काम हो जाए, तब बता देना। ताकि पंचायत से पता कर लें वहां पर कनेक्टीविटी कारगार भी है। हम ग्राम पंचायतों से भी रिपोर्ट लेंगे।

सांसद बृजेंद्र सिंह अधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए
सांसद बृजेंद्र सिंह अधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए

कागज ही पीटने का काम तो पहले से ही चल रहा

सांसद ने एजेंडा नंबर 6 में ई नेशनल एग्रीकल्चर मार्किट आने पर मार्किट कमेटी अधिकारी से पूछा कि ई नेम में कुछ हो नहीं रहा। यह प्रोगेस केवल कागजों पर हो रही है। मंडी में केवल चीज की एंट्री आ रही है और न ही पेमेंट आ रही है। सांसद ने कहा कि आप एैसे का मतलब बताएं। तब अधिकारी बता नहीं सका। सांसद ने कहा कि हिसार की मंडियों से कितनी ट्रांजेक्शन दूसरी मंडियों में हुई। कागज ही पीट कर रिपोर्ट तैयार करनी है तो पहले से ही यहीं सिस्टम चल रहा है। सारी मंडियों के साथ ट्रांजेक्शन की है तो वो रिपोर्ट रखा करो। क्या आपको पता है कि हिसार की मंडियों की दूसरी मंडियों के साथ कितनी ट्रांजेक्शन हुई है।

कितने कनेक्शन रिफल करवाए

मीटिंग में खाद्य आपूर्ति विभाग की रिपोर्ट का रिव्यू हुआ तो सांसद ने पूछा कि आपने उज्जवला योजना में कनेक्शन बांटने के बाद दोबारा कितने लोगों ने कनेक्शन रिफल करवाए है, इसका ब्यौरा दें। तब खाद्य आपूर्ति विभाग का इंस्पेक्टर यह डाटा बता नहीं सका। सांसद ने कहा कि आपके डाटा में भी गड़बड़ी है, तब इंस्पेक्टर ने जवाब दिया कि वे ये डीलिंग हैंड से लेते हैं। सांसद ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा आप डीलिंग हैंड से लेते हो या किसी एजेंसी से। परंतु डाटा तो सही होना चाहिए। यह बड़ा संगीन मैटर है। आपको खुद नहीं पता।

सिंचाई विभाग को नोटिस

इसके बाद एजेंडा नंबर 13 को पढ़ा गया। उसमें सिंचाई विभाग का कोई प्रश्न नहीं था। इस पर सांसद ने कहा कि यदि कोई आइटम नहीं थी तो इसे रखा क्यों गया। इसे हटा दिया करें। क्या अधिकारी आए। परंतु कोई नहीं आया। डीसी ने भी सिंचाई विभाग के अधिकारियों के न आने की जानकारी पर अनभिज्ञता जताई। तब सांसद ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को नोटिस इश्यू करने के आदेश दिए।

सांसद ने बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ एजेंडे के डाटा चैक किया तो उसमें वर्ष 2016 का डाटा अंकित था। तब सांसद ने कहा कि ये तो कॉपी पेस्ट किया हुआ है। आगे से चैक करके लाया करो। सांसद ने जलजीवन मिशन, एमपी लैंड, अमृत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित कुल 27 एजेंडों पर चर्चा की।