भारतीय रेलवे ने शुरू की मासिक सीजन टिकट सेवा:कोरोना के बाद से बंद थी; हिसार रूट की 6 ट्रेनों समेत 61 गाड़ियों में बहाल हुई, किराए में कोई बदलाव नहीं

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना काल के बाद से इंडियन रेलवे में बंद की गई मासिक सीजन टिकट MST सेवा फिर से शुरू हो गई है। यह सेवा फिलहाल चुनिंदा ट्रेनों में ही शुरू की गई है, लेकिन जिन ट्रेनों में शुरू की गई है, उनमें हिसार रूट की 6 ट्रेनें भी शामिल हैं। रेलवे ने फिलहाल 17 नई ट्रेनों में सेवा शुरू करने की बात कही है। इससे पहले 44 ट्रेनों में सर्विस बहाल कर दी गई है।

पिछले साल कोरोना महामारी को देखते हुए मासिक सीजन टिकट की बिक्री, वैधता और सेवा पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन अब सितंबर माह से यह सेवा दोबारा शुरू कर दी गई है। इससे उन लाखों यात्रियों को फायदा मिलेगा, जो एक ही रूट पर रोजाना ट्रेन से सफर करते हैं। वे अब मासिक सीजन टिकट के सहारे बेहद मामूली दर पर यात्रा कर सकेंगे।

रेलवे ने यह सुविधा शुरू तो कर दी है, लेकिन यह अभी उत्तर रेलवे जोन में चलने वाले चुनिंदा ट्रेनों के लिए ही लागू रहेगी। उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के अनुसार, डेली पैसेंजर्स अभी 61 ट्रेनों में ही इस मासिक पास के सहारे यात्रा कर सकेंगे। राहत भरी बात यह है कि मासिक सीजन टिकट की कीमतों में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है और वह पहले की तरह ही रहेंगी।

क्या होता है मासिक सीजनल टिकट
रेलवे की ओर से विभिन्न वर्ग के यात्रियों (बच्चों, छात्रों, आम लोगों) को रियायती दरों पर सीजनल टिकट जारी किए जाते हैं। एक महीने, तीन महीने आदि अवधि के लिए ये टिकट जारी किए जाते हैं। द्वितीय श्रेणी मासिक सीजन टिकट का किराया सभी दूरियों के लिए एकसमान द्वितीय श्रेणी (साधारण) की 15 इकहरी यात्राओं के किराए के बराबर होता है। वहीं प्रथम श्रेणी मासिक सीजन टिकट का किराया सभी दूरियों के लिए एकसमान द्वितीय श्रेणी किरायों से चार गुना होता है। बच्चों का सीजन टिकट किराया वयस्क के सीजन टिकट किराए से आधा होता है। एक यात्री को अपने कार्यस्थल या अध्ययन स्थल से निवास के बीच यात्रा के लिए केवल एक सीजन टिकट जारी किया जाता है।

खबरें और भी हैं...