पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टेंडर देने का मामला:अब रि. एचसीएस करेंगे मामले की जांच एडमिनिस्ट्रेटर ने 15 दिन में मांगी रिपाेर्ट

हिसार4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नियम बदल एक एजेंसी काे 3 साल से टेंडर देने का मामला

हुडा में हर साल नियम और शर्तें बदलकर एक ही एजेंसी काे लगातार तीन साल से हाॅर्टिकल्चर विंग के टेंडर देने के मामले में एडमिनिस्ट्रेटर राजेश जाेगपाल ने जांच के आदेश जारी दिए हैं। इस मामले में उन्हाेंने रिटायर्ड एचसीएस राेशन लाल काे जांच अधिकारी लगाया है। पूरे मामले की जांच 15 दिन के भीतर की जाएगी। इसकाे लेकर रिकाॅर्ड संबंधित सहयाेग के लिए असिस्टेंट सुनीता देवी काे लगाया है।

एचएसवीपी यानी हुडा की हाॅर्टिकल्चर विंग में पिछले तीन साल से एक ही एजेंसी काे बार-बार 17 टेंडर अलाॅट करने का मामला सामने आया था। हैरानी की बात थी कि एजेंसी काे फायदा पहुंचाने के लिए विंग में शामिल अधिकारी कर्मचारी मिलीभगत कर टेंडर की नियम व शर्ताें में खुद ही बार-बार बदलाव कर रहे थे। इस मामले काे लेकर जब एक अन्य एजेंसी ने उच्च अधिकारियाें काे शिकायत की और अपने अधिवक्ता के माध्यम से अधिकारियाें काे लीगल नाेटिस भेजा था।

साथ ही एजेंसी ने विजिलेंस काे भी शिकायत भेजी थी। शिकायतकर्ता का कहना था कि अधिकारियाें की मिलीभगत से सरकार काे रेवेन्यू का नुकसान हुआ है। साथ ही काम करने वाली लेबर काे मिलने वाले ईपीएफ, ईएसआई व अन्य लाभ भी नहीं मिल पाए। शिकायत के बाद अब मामले में जांच शुरू हाे गई है।

इस मामले में अधिकारियाें ने मिलीभगत कर करीब 1 कराेड़ रुपये का आर्थिक नुकसान पहुंचाया है। मामले में रिटायर्ड एचएसीएस जांच कर रहे हैं जल्द ही रिपाेर्ट सबमिट हाेने की उम्मीद है।'' - सतबीर सिंह, एडवाेकेट।

खबरें और भी हैं...