पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाल सुधार गृह का मामला:97 में से 60 आराेपी जघन्य अपराधों में लिप्त कुछ नजदीकी सेफ्टी हाउस में होंगे शिफ्ट

हिसार8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार की जिला उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी व अन्य मामले की जानकारी लेते हुए। - Dainik Bhaskar
हिसार की जिला उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी व अन्य मामले की जानकारी लेते हुए।

बाल सुधार गृह से बाल आराेपियाें के भागने के मामले में हरियाणा राज्य बाल संरक्षण आयाेग की चेयरपर्सन के ऑब्जर्वेशन और जांच में सामने आया है कि बाल सुधार गृह के 97 में से 60 आराेपी जघन्य अपराधाें में लिप्त हैं। 15 आराेपी ही पेटी क्राइम के हैं। जांच में सामने आया है कि आराेपियाें के फरार हाेने के मामले में सुरक्षाकर्मियाें की लापरवाही रही।

यही नहीं प्रशासन ने भी सुरक्षा बढ़ाने की तरफ काेई ध्यान नहीं दिया। सुरक्षाकर्मियाें में कुछ की उम्र 45 पार भी रही। 45 पार उम्र के सुरक्षाकर्मी कैसे बाल आराेपियाें काे राेक पाते? इसका अंदाजा खुद ही लगाया जा सकता है। चेयरपर्सन का कहना है कि जल्द कुछ आराेपियाें काे नजदीकी सेफ्टी हाउस में शिफ्ट किया जाएगा। साथ ही काउंसिलिंग भी कराई जाएगी। उधर, एसपी बलवान सिंह राणा ने आराेपियाें की सुरक्षा में लापरवाही बरतने के मामले में एएसआई जगराज सिंह, तीन सिपाही बिजेंद्र सिंह, रघुविंद्र सिंह, विनाेद काे लाइन हाजिर कर दिया।

17 में से तीन आरोपी पकड़े जा चुके, 15 टीमें तलाश में

निरीक्षण गृह से साेमवार की शाम तीन जेल वार्डर पर हमला कर फरार हुए 17 बाल बंदियों में से तीन काे पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही पकड़ लिया था। इनमें से एक बंदी काे तलवंडी राणा, दूसरे काे राजगढ़ राेड और तीसरे काे हांसी से पकड़ा था। गाैरतलब है कि 12 अक्टूबर की शाम काे हिसार के बाल सुधार गृह में सुरक्षाकर्मी तलवेंद्र, सुनील और चंद्रकांत पर हमला करने के बाद 17 आराेपी फरार हाे गए थे। हालांकि बाद में तीन और फरार आराेपियाें काे पुलिस ने पकड़ा था। एसपी ने बताया कि फरार बाकी आराेपियाें की तलाश में 15 टीमें जुटी हैं।

खबरें और भी हैं...