पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाबा के बयान पर डॉक्टरों में गुस्सा:प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी बंद रही, सिविल अस्पताल में भीड़ बढ़ी

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

माॅडर्न मेडिसीन पर तंज कसने पर बाबा रामदेव के विरुद्ध इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के आह्वान पर निजी अस्पताल संचालकों ने सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक ओपीडी सेवाएं बंद रखीं। इसके चलते जहां निजी अस्पताल खाली नजर आए, वहीं सिविल अस्पताल में मरीजों की भीड़ बीते दिनों की तुलना में अधिक रही।

बता दें कि एसोसिएशन ने बाबा रामदेव को एंटी नेशनल एक्टिविटी का आरोपी बताकर तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है। इसको लेकर एसोसिएशन के आह्वान पर सभी निजी अस्पतालों में 15 से 17 जून तक तक सुबह 2 घंटे और 18 जून को सुबह 7 से दोपहर 2 बजे तक ओपीडी सेवाएं बंद रखी गई थी। हालांकि इमरजेंसी सेवाओं को सुचारु रखा था।

गौरतलब है कि आईएमए के जिला प्रधान डॉ. जेपीएस नलवा ने बताया था कि हमारी सरकार से मांग है कि किसी भी अस्पताल में डॉक्टर्स अगेंस्ट या किसी भी तरह की वायलेंस होने पर गैर जमानती धाराओं के तहत कार्रवाई हो, जिसके लिए सेंट्रल लॉ बनाया जाए। इसके साथ ही बाबा रामदेव बेशक वैक्सीन पर कहे अपने शब्दों को वापस लेते रहें मगर उन्होंने एंटी नेशनल एक्टिविटी की है। इसलिए इनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...