पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांसों काे मिलेगी प्राण वायु:सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्लांट शुरू; हर वार्ड में बिछ रही सप्लाई लाइन

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू। - Dainik Bhaskar
सिविल हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू।
  • एनएचएआई 1000 लीटर प्रति मिनट वाले प्लांट के लिए तलाश रहा जगह
  • काेराेना की दूसरी लहर के चलते पैदा हुए संकट के बीच अाॅक्सीजन से जुड़ी पहली बार 3 सकारात्मक खबरें एक साथ
  • चार महीने के बाद प्रोजेक्ट हो सका पूरा, सिविल अस्पताल में रोज 160 सिलेंडर की खपत

सिविल अस्पताल में स्थापित ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्लांट से शुक्रवार को ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू कर दी। गुड़गांव की लैब में ऑक्सीजन सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जिसमें 94.5 फीसद शुद्धता मिली है। बायो मेडिकल इंजीनियर वरुण कुमार ने बताया कि इस प्लांट से रोज 2.80 लाख लीटर यानी 7 क्यूबिक मीटर के 40 सिलेंडर ऑक्सीजन उपलब्ध होगी।

प्लांट से आइसोलेशन वार्ड के मेनिफॉल्ड रूम तक कॉपर लाइन जुड़ी है, जिससे होकर ऑक्सीजन विभिन्न वार्डों में बिछी लाइन के जरिए मरीजों को मिलेगी। करीब चार माह बाद प्रोजेक्ट पूरा होने पर ऑक्सीजन की कमी दूर होगी। सिविल अस्पताल में रोज 160 सिलेंडर तक ऑक्सीजन की खपत हो रही है।

डीआरडीओ की पहल... एनएचएआई टीम ने टीबी अस्पताल और सिविल अस्पताल में देखी जगह, जल्द होगी फाइनल

इधर, ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए डीआरडीओ के निर्देश पर एनएचएआई यानी नेशनल हाईवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया भी ऑक्सीजन प्लांट के सिविल अस्पताल व टीबी अस्पताल में जमीन तलाशने पहुंची। टीबी अस्पताल में काफी जगह है, जहां प्लांट स्थापित करने पर विचार चल रहा है। सिविल अस्पताल के प्लांट से एक मिनट में 200 लीटर ऑक्सीजन जनरेट व स्टोर हो रही है। वहीं डीआरडीओ का प्लांट स्थापित होता है तो एक हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन जनरेट व स्टोरेेज की जाएगी।

इसको लेकर एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर विशाल गौतम ने बताया कि प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। हमें सिविल वर्क दिया है, जिसे पूरा करने के लिए प्लांट स्थापित करने के लिए जमीन तलाश रहे हैं। इसके लिए सिविल अस्पताल व टीबी अस्पताल में जमीन देखी है। वैसे टीबी अस्पताल में काफी जगह है। ऐसे में जल्द ही साइट फाइनल करके काम शुरू कर देंगे।

नहीं उठाना पड़ेगा सिलेंडर... सभी वार्ड तक पहुंची ऑक्सीजन लाइन

सिविल अस्पताल के हर वार्ड में ऑक्सीजन लाइन बिछाने का काम युद्धस्तर पर जारी है। ये लाइन सीधा ऑक्सीजन मेनीफोल्ड रूम से जुड़ेंगी, जिनसे ऑटो मैटिक चैनल से ऑक्सीजन सप्लाई होगी। वार्ड-13 और इमरजेंसी वार्ड में ऑक्सीजन लाइन लगाने का काम चल रहा है। करीब 70 फीसद तक काम पूरा हो चुका है। 30 फीसद काम को तेजी से कंप्लीट करने के दिन-रात काम जारी है। इससे फायदा यह होगा कि मरीज को उसके बेड पर ही ऑक्सीजन उपलब्ध होगी। सिलेंडर उठाने या लाने का झंझट खत्म होगा।

खबरें और भी हैं...