पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोष:घरों के सामने खड़े हाे किया ऑनलाइन प्रदर्शन, मांगीं हेल्थ सुविधाएं

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मरीजाें काे ऑक्सीजन, वेंटीलेटर उपलब्ध कराने की मांग पर जन संगठन मंच से जुड़े लाेगाें ने घराें के सामने या छत पर खड़े होकर हाथों में पोस्टर लेकर ऑनलाइन प्रदर्शन किया। - Dainik Bhaskar
मरीजाें काे ऑक्सीजन, वेंटीलेटर उपलब्ध कराने की मांग पर जन संगठन मंच से जुड़े लाेगाें ने घराें के सामने या छत पर खड़े होकर हाथों में पोस्टर लेकर ऑनलाइन प्रदर्शन किया।
  • कोरोना काल में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, जरूरी उपकरण और मेडिकल सुविधाओं की मांग को लेकर जन संगठनों ने डीसी को ज्ञापन भी भेजा

जनसंगठन मंच ने कोरोना संकट के समय ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और जरूरी मेडिकल उपकरण, दवाइयां व अन्य सुविधाएं की उपलब्धता सुनिश्चित करवाने की मांग पर गुरुवार काे टोल पर जारी धरनों, मजदूरों के काम करने वाली जगहों समेत सैकड़ों लोगों ने अपने-अपने घरों के सामने खड़े होकर ऑनलाइन विरोध प्रदर्शन किया। मंच की ओर से जिला उपयुक्त और एसएसपी को ऑनलाइन ही ज्ञापन भेजा गया।

ज्ञापन के माध्यम से उन्हाेंने कहा कि जिला प्रशासन काे सभी सुविधाएं उपलब्ध करानी चाहिए। इस प्रदर्शन में े प्रो. अतर सिंह, मास्टर रमेश चंद्र, सुरेश कुमार, सुखबीर सिंह, मियां सिंह, रोहतास, ऋषिकेश राजली, विक्रम मित्तल एडवोकेट, बबली लांबा, रणधीर सिंह, सुरेश जांगड़ा, डॉ. बलजीत सिंह भ्यान, दिनेश सिवाच, नरेश गौतम, शरदानंद राजली, बाड़ोपट्टी टोल धरने पर राजू भगत सरसोद, धौला जेवरा, प्रदीप खेदड़, बलवान बेनीवाल, महासिंह राजली, सतबीर बलौदा, कुलदीप भ्याण, नांदड़ी टोल संदीप सिवाच, कर्मजीत सिंह, महेंद्र सिंह, विजय पूनिया सरपंच आदि शामिल हुए।

ये रहे ज्ञापन के मुख्य बिंदु

  • सभी जरूरतमंद मरीजों के लिए ऑक्सीजन व जरूरी दवाइयों और रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित हो। इनकी कालाबाजारी पर रोक लगाई जाए। होम आइसोलेशन के मरीजों के लिए भी ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई जाए। सिविल अस्पताल में आक्सीजन प्लांट तुरंत शुरू किया जाए।
  • सभी गंभीर मरीजों के लिए वेंटिलेटर उपलब्ध हो, सिविल अस्पताल के सभी वेंटिलेटर शुरू किए जाएं और जल्द नए वेंटिलेटर मंगवाए जाने चाहिए। सरकार बेडों की संख्या बढ़ाए या प्राइवेट अस्पतालों से बेड अधिग्रहण करे।
  • डॉक्टर्स, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती जल्द से जल्द की जाए।
  • निजी अस्पतालों में मनमानी वसूली पर रोक लगे और ऑक्सीजन व आईसीयू बेड के चार्जेस कम किए जाएं। प्राइवेट अस्पताल में इलाज ले रहे सभी मरीजों का पूरा खर्च सरकार वहन करे।
  • कोविड मरीजों की जानकारी, ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता, वेंटिलेटर व अन्य जानकारियां सिंगल विंडो पर उपलब्ध हो ताकि मरीजों और तीमारदारों को भटकना न पड़े।
खबरें और भी हैं...