पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जीजेयू में पीएचडी छात्रा सुसाइड केस:सुसाइड नोट की लेखनी मिलान को नमूने के साथ लैब भेजेगी पुलिस

हिसार14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मामले में सच्चाई सामने लाने के लिए डीएसपी के नेतृत्व में तफ्तीश होगी। - Dainik Bhaskar
मामले में सच्चाई सामने लाने के लिए डीएसपी के नेतृत्व में तफ्तीश होगी।

जीजेयू में पीएचडी की छात्रा द्वारा जहर खाकर सुसाइड मामले की जांच कछुआ गति से चल रही है। यूनिवर्सिटी की कमेटी भी कई दिनों बाद जांच से हाथ खड़ेे कर गई है। ऐसे में सिटी थाना पुलिस के पाले में गेंद है। जीजेयू चौकी इंचार्ज रविंद्र के अनुसार छात्रा के सुसाइड नोट की लेखनी का मिलान करवाया जाएगा, जिसके लिए नमूना लेकर सोमवार या मंगलवार तक फोरेंसिक साइंस लैब में भिजवा देंगे।

इसके साथ मामले में आरोपी बायोनैनो टेक विभाग के चेयरमैन डॉ. संदीप व गाइड प्रो. नमिता को तफ्तीश में शामिल करके बयान दर्ज किए जाएंगे। हिनियस क्राइम होने के चलते मामले में सच्चाई सामने लाने के लिए डीएसपी के नेतृत्व में तफ्तीश होगी। इस मामले संबंधित जरूरी दस्तावेज जुटा लिए हैं।

गौरतलब है कि जीजेयू की पीएचडी की छात्रा ने बायो नैनोटेक विभाग की लैब में जहर खाकर सुसाइड कर लिया था। मृतका के पिता ने विभाग के चेयरमैन व गाइड पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप जड़ा था। चेयरमैन पर आरोप है कि बेटी पर नाजायज संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था।

खबरें और भी हैं...