• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Post mortem Of The Deceased Vinod Will Be Done Today, There Is A Warning Not To Lift The Dead Body Till The Arrest Of The Accused

हिसार का विनोद हत्याकांड:डीसी व एसपी ने अस्पताल पहुंचकर की मृतक के परिजनों से मुलाकात, दो आरोपी गिरफ्तार, तीन डीएसपी करेंगे जांच

हिसार5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक विनोद कुमार। - Dainik Bhaskar
मृतक विनोद कुमार।

हरियाणा के हिसार के गांव मिरकां के विनोद की हत्या मामले में देर शाम मृतक विनोद का पोस्टमार्टम किया गया। हालांकि अभी तक मृतक के परिजनों ने मोर्चरी से शव नहीं उठाया है। दोपहर को उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी व एसपी बलवान सिंह राणा ने मृतक व घायलों के परिजनों से मुलाकात कर हर संभव मदद की बात की। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है बाकियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। केस की जांच के लिए तीन डीएसपी को जिम्मेवारी सौंपी गई है।

मृतक के परिजनों से बात करते हुए डीसी व एसपी
मृतक के परिजनों से बात करते हुए डीसी व एसपी

उपायुक्त ने बताया कि इस मामले में जिला प्रशासन पूरी तरह से सजग है और गांव में सुरक्षा के के लिए पुलिस विभाग द्वारा पुख्ता प्रबंध किए गए हैं, ताकि कोई अप्रिय घटना ना हो सके। पीड़ित पक्ष को सरकार द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुसार आर्थिक सहायता शीघ्र उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने परिवार के सदस्यों को आश्वासन दिया कि इस मामले में पूरी तरह से इंसाफ होगा। उपायुक्त ने उपचाराधीन घायलों को सुरक्षा व्यवस्था के अतिरिक्त खाने-पीने, उपचार एवं दवाइयां उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने परिजनों से अपील करते हुए कहा कि मृतक विनोद की आत्मिक शांति के लिए दाह संस्कार की सभी प्रक्रियाएं सही ढंग से पूरी की जाए। उपायुक्त व एसपी के आश्वासन के बाद भी परिजनों ने शव नहीं उठाया है और नागरिक अस्पताल परिसर में लगातार उनका धरना जारी है।

पानी की मोटर चोरी के शक में पीट-पीटकर की थी हत्या

मिरकां गांव निवासी विनोद की उन्हीं के गांव के कुछ युवकों ने मोटर चोरी के शक में पीट-पीटकर हत्या की थी। परिजनों के अनुसार, मंगलवार दोपहर को उनके गांव के ही एक दर्जन से ज्यादा युवक विनोद को पूछने आए थे। परिजनों ने कहा कि वह तो मजदूरी करने के लिए चला गया है। इसके बाद युवकों ने विनोद और उसके साथी संदीप व भाल सिंह को पूछताछ के बहाने बीच रास्ते से ही बाइक पर अपहरण कर लिया।

आरोपी युवक तीनों को पकड़कर पहले खेत में ले गए और वहां पर पीटा। उसके बाद गांव में ले आए तो और वहां भी तीनों को लट्‌ठों से बुरी तरह से पीटा। हमलावरों ने इसी बीच गांव के सरपंच को फोन करके बता दिया कि उन्होंने मोटर चोरी करने वालों को पकड़ लिया है, जल्दी से मौके पर आ जाओ। जब तक गांव का सरपंच मौके पर पहुंचा तब तक विनोद की मौत को चुकी थी और दो अन्य बुरी तरह से घायल थे।

खबरें और भी हैं...