पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Preparation To Generate Oxygen In Khedar Power Plant, 2.10 Lakh Liters Of Oxygen Will Be Produced Daily If Plan Ends

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सराहनीय पहल:खेदड़ पावर प्लांट में ऑक्सीजन जनरेट करने की तैयारी, प्लान सिरे चढ़ा तो रोजाना 2.10 लाख लीटर ऑक्सीजन बन सकेगी

हिसार12 दिन पहलेलेखक: राजेश सैनी
  • कॉपी लिंक
खेदड़ पावर प्लांट में इंजीनियर काे लेकर पहुंचे पार्षद अमित ग्राेवर। - Dainik Bhaskar
खेदड़ पावर प्लांट में इंजीनियर काे लेकर पहुंचे पार्षद अमित ग्राेवर।
  • दाेनों यूनिट बंद, इंजीनियर व कैमिस्ट ने हाइड्राेजन प्लांट काे ऑक्सीजन प्लांट में कनवर्ट करने की प्लानिंग बनाई

आवश्यकता अविष्कार की जननी है। काेराेना काल में आज ऑक्सीजन काे लेकर हाहाकार है। लाेग ऑक्सीजन की कमी के कारण दम ताेड़ रहे हैं। इसी बीच खेदड़ पावर प्लांट प्रबंधन ने हाइड्राेजन प्लांट काे ऑक्सीजन जनरेट करने की प्रक्रिया में कनवर्ट कर दिया है। इसमें मुख्य भूमिका इंजीनियर एलएस वर्धी व कैमिस्ट सतीश शर्मा ने निभाई है।

खेदड़ पावर प्लांट में एक्सपेरीमेंट के ताैर पर कुछ ऑक्सीजन जनरेट भी की गई है मगर इसकी टेस्टिंग अभी बाकी है। प्लांट के इंजीनियर्स का अनुमान है कि अगर यह प्लान सिरे चढ़ जाता है ताे जिले में 2.10 लाख लीटर ऑक्सीजन का हर राेज उत्पादन हाे पाएगा। पार्षद अमित ग्राेवर ने इसमें जिला प्रशासन व खेदड़ पावर प्लांट प्रबंधन का सहयाेग किया है।

पार्षद वेंटिलेटर इंस्टाॅल व आईसीयू सेटअप लगाने वाले इंजीनियर काे लेकर पहुंचे। उन्हाेंने ऑक्सीजन एनालाइजर की सहायता से ये देखा कि 1 सिलेंडर में कितनी फीसद ऑक्सीजन गैस थी। इंजीनियर ने चेक कर बताया कि 95 प्रतिशत तक ऑक्सीजन मिली है। मगर बाकी 5% काैन सी गैस थी इसकाे लेकर मल्टी गैस एनालाइजर मशीन से चेक किया जाएगा। इसके बाद यह क्लीयर हाे पाएगा कि यह मेडिकली यूज के लिए ठीक रहेगी या नहीं।

जिला प्रशासन काे भेजा गया था प्रपाेजल

खेदड़ पावर प्लांट के कैमिस्ट सतीश शर्मा ने बताया कि प्लांट प्रबंधन की तरफ से ये जिला प्रशासन काे प्रपाेजल भेजा गया था कि क्याें न इस आपदा में इस प्लांट का यूज ऑक्सीजन जनरेट करने में किया जाए। इसकाे लेकर प्रशासन तैयार है। मगर इसे मेडिकली चेक करना जरूरी है। इसकाे लेकर सीनियर ड्रग इंस्पेक्टर रमन श्याेराण काे बुलाया गया है। ड्रग विभाग की तरफ से जब तक फाइनल मुहर नहीं लगेगी तब तक इसे मेडिकली यूज नहीं करेंगे।

पहले एनवायरमेंट में की जाती थी ऑक्सीजन डिस्चार्ज

राजीव गांधी खेदड़ पावर प्लांट में पहले हाइड्राेजन के साथ ऑक्सीजन जनरेट हाेती थी मगर पहले इसे एनवायरमेंट में डिस्चारज कर दिया जाता था। अधिकारियाें की मानें ताे यह पहले कभी साेचा नहीं गया था कि इसका मेडिकल के हिसाब से यूज किया जा सकेगा। मगर आपातकाल में अब यूनिट बंद हैं ऐसे में गैस जनरेट करने वाले प्लांट से ऑक्सीजन जनरेट करने का विचार आया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें