सिरसा में पत्रकारों से परेशान स्कूल संचालक ने खुदकुशी की:भिरानी हेड के पास मिला शव; 4 लोगों पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप, मरने से पहले बनाया वीडियो

सिरसा/हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खुदकुशी करने वाले स्कूल संचालक रविंद्र गोदारा का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
खुदकुशी करने वाले स्कूल संचालक रविंद्र गोदारा का फाइल फोटो।

हरियाणा के सिरसा जिले के गांव चौपटा में एक प्राइवेट स्कूल संचालक ने सिद्धमुख नहर में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। शुक्रवार शाम को मृतक का शव गोताखोरों को राजस्थान में भिरानी हेड के पास मिला। शनिवार सुबह पोस्टमार्टम कराया जाएगा। जहां शव मिला, वहां से 4 किलोमीटर दूर गांव झांसल और गांव भैरोवाली के बीच मृतक की कार खड़ी मिली।

सिरसा और भिरानी पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। थाना भिरानी के ASI जसवंत सिंह के अनुसार, मृतक की पहचान डीएन स्कूल के संचालक रविन्द्र गोदारा के रूप में हुई है। शुक्रवार शाम को करीब 6 बजे मृतक ने अपनी कार में बैठकर एक 4 मिनट का वीडियो बनाया और उसके बाद नहर में छलांग लगा दी। मृतक ने वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करके चार लोगों पर तंग करने और जान देने के लिए उकसाने का आरोप लगाया है।

2 पेज का सुसाइड नोट मिला

थाना प्रभारी ने बताया कि रविन्द्र गोदारा की कार में दो पेज का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें मृतक ने हनुमान पूनियां, प्रेम कासनिया, राजवीर भाम्भू समेत यश भाम्भू को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। इसमें से दो आरोपी ब्लैकमैलर यूट्यूब चलाने वाले पत्रकार बताए जा रहे हैं। मृतक के परिजनों ने नामजद एफआईआर दर्ज करवाई है। अब मृतक के परिजन आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े हुए हैं।

राहगीर ने लावारिस गाड़ी खड़ी होने की सूचना दी
थाना प्रभारी ने बताया कि एक राहगीर ने नहर किनारे लावारिस कार खड़ी देखी। जानकारी मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की। कार से लैपटॉप, डायरी और जूते मिले। कार के दस्तावेजों से मालिक की पहचान रविंद्र गोदारा के रूप में हुई। वहीं डायरी में लिखे नंबरों पर संपर्क किया तो रविंद्र के परिजनों का पता चला। खबर मिलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे। परिजनों ने कार और उसमें मिले सामान की शिनाख्त की।

परिजनों ने जानकारी दी कि रविंद्र गोदारा हिसार के गांव चूली बागड़ियान का रहने वाला है। वह सिरसा के गांव चौपाटा में दयानंद पब्लिक स्कूल चलाते हैं। शुक्रवार सुबह रविंद्र स्कूल जाने के लिए निकला था, लेकिन घर से जाने के बाद से उसका फोन बंद आ रहा है। फिर पुलिस ने तुरंत गोताखोरों को बुलाकर नहर में तलाशी अभियान शुरू करवाया तो देर शाम शव गांव रासलाना में भिरानी हेड के पास मिल गया।

चारों लोगों पर लगाया बदनाम करने का आरोप

रविंद्र गोदारा ने मरने से पहले एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वह चारों आरोपियों द्वारा उसे लगातार परेशान करने व बदनाम करने की बात कर रहा है। रविन्द्र के अनुसार, आरोपी उस पर कुछ घिनौना आरोप लगाकर उसे बदनाम कर सकते हैं, इसलिए चारों की प्रताड़ना से तंग आकर वह जान दे रहा है, ताकि उसका स्कूल बच सके।

लगातार स्कूल के खिलाफ वीडियो चला रहे थे यूट्यूबर

परिजनों के अनुसार, दयानन्द स्कूल में बीते कुछ दिनों से लगातार हंगामे हो रहे थे। बच्चों को एसएलसी नहीं देने व रिजल्ट में गड़बड़ी के आरोप भी स्कूल पर लग चुके हैं। इन मामलों को हनुमान और यश भाम्भू, जो न्यूज और सिरसा क्रांति के नाम से यूट्यूब चैनल चलाते हैं, उन्होंने खूब कवरेज की। इसके इलावा अन्य बच्चों के परिजनों ने आरोप लगाया कि रविंद्र गोदारा ने अपने भांजे को सबसे ज्यादा नंबर से पास किया है। स्कूल की लगातार हो रही बदनामी से रविंद्र परेशान चल रहा था। लेकिन यह नहीं सोचा था कि वे इस तरह खुदकुशी कर लेंगे।