यात्रियों को मिल सकेगी सुविधा:स्टेशनों पर रेलवे लगाएगा वाटर वेंडिंग मशीन, 5 रुपए में मिलेगा 1 ली.

हिसारएक महीने पहलेलेखक: महबूब अली
  • कॉपी लिंक
हिसार स्टेशन पर बंद वाटर वेंडिंग मशीन। - Dainik Bhaskar
हिसार स्टेशन पर बंद वाटर वेंडिंग मशीन।
  • ठेकेदार ने जमा नहीं कराए थे रुपए, एक साल पहले 100 वाटर वेंडिंग मशीनें कर दी थीं बंद

रेलवे यात्रियाें के लिए खुशखबरी है। बीकानेर डिविजन के हिसार, भिवानी, सिरसा, बीकानेर समेत अन्य रेलवे स्टेशनाें पर जल्द यात्री आरओ का पानी कम दामाें में खरीदते नजर आएंगे। दिसंबर माह में वाटर वेंडिंग मशीनें सभी रेलवे स्टेशनाें पर शुरू करा दी जाएंगी। अब आईआरसीटीसी के बजाय रेलवे आरओ वाटर वेंडिंग मशीनें संचालित करेगा। इसके लिए रेलवे अधिकारियाें ने तैयारी कर ली है।

दरअसल, रेलवे स्टेशनाें पर यात्रियाें की सुविधा की मद्देनजर वाटर वेंडिंग मशीन लगाई थी। इनसें यात्री एक रुपए से लेकर 12 रुपये में आरओ का पानी ले रहे थे। मगर करीब एक साल पहले करीब 100 आरओ वाटर वेंडिंग मशीनाें काे बंद कर दिया गया। यात्रियों काे 15 से लेकर 20 रुपए में आरओ के पानी की बाेतल खरीदने काे मजबूर हाेना पड़ा।

रेलवे अधिकारियाें का कहना था कि आरओ वाटर वेंडिंग मशीन का ठेका आईआरसीटीसी ने छाेड़ा हुआ था। ठेकेदार ने रुपये जमा नहीं िकए, जिसके कारण हिसार, बीकानेर, भिवानी, सिरसा रेलवे स्टेशनाें पर आरओ वाटर वेंडिंग मशीनाें काे बंद कर दिया था। यात्री वाटर वेंडिंग मशीन शुरू कराने की मांग कर रहे थे। दिसंबर माह में रेलवे सभी वाटर वेंडिंग मशीनाें काे संचालित करेगा।

वाटर वेंडिंग मशीन से पानी के रेट

  • 300 मिली एक रुपए
  • 500 मिली तीन रुपए
  • एक लीटर पांच रुपए
  • दो लीटर 12 रुपए
  • पांच लीटर 20 से 25 रुपए

रोज 15 हजार से अधिक करते हैं सफर

हिसार रेलवे स्टेशन की बात की जाए ताे यहां से प्रतिदिन 15 हजार से अधिक यात्रियाें का आवागमन हाेता है। इसमें करीब 10 हजार से अधिक यात्री लंबी दूरी के होते हैं। जिस लिहाज से इन यात्रियों को पानी की जरूरत सबसे अधिक होती है। स्थापित इन वाटर वेंडिंग मशीनाें से यात्रियाें काे पर्याप्त पीने का पानी मिल सकेगा। वह भी सस्ते दामों में मिलेगा।

यात्रियाें की परेशानी काे देखते हुए अब रेलवे स्टेशनाें पर रेलवे विभाग ही वाटर वेंडिंग मशीनाें का पानी उपलब्ध कराएगा। प्रयास रहेगा कि यात्रियाें काे किसी भी तरह की परेशानी न हाेने दी जाए। -अनिल रैना, सीनियर डीसीएम, बीकानेर डिविजन।

खबरें और भी हैं...