पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Red Cross's Vidya Vahini Is Blowing Dust In The Corona Era, The Purpose Was To Go To The Village To Teach Children Computers

अव्यवस्था:कोरोना काल में धूल फांक रही है रेडक्रॉस की विद्या वाहिनी, गांव जाकर बच्चों को कंप्यूटर सिखाना था जो उद्देश्य

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फिलहाल आरसीआईटी में इस्तेमाल हो रहे लैपटॉप, बस जल्द शुरू होने के आसार
  • लगभग 20 लाख की लागत से तैयार हुई थी बस, सिखाने के लिए 20 लैपटॉप भी लगाए थे

गांव-गांव जाकर बच्चों को कंप्यूटर बेसिक ट्रेनिंग देने वाली रेडक्रॉस की विद्या वाहिनी कंप्यूटर ट्रेनिंग बस आजकल पार्किंग में धूल फांक रही है। अधिकारियों का कहना है कि कोरोना के चलते लॉकडाउन के दौरान कहीं बाहर नहीं निकली। बता दें कि बस का उद्घाटन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 2015 में किया था। जिसका उद्देश्य रेडक्रॉस सोसायटी का प्रचार-प्रसार और ऐसे में गांव जाकर ऐसे बच्चों को कंप्यूटर सिखाना था जोकि शहर की दूरी तय कर कंप्यूटर सीखने नहीं आ सकते।

लगभग 20 लाख की लागत से तैयार हुई थी बस, सिखाने के लिए 20 लैपटॉप भी लगाए थे
सूत्रों की मानें तो बस की कीमत 20 लाख है। जो पूरी तरह (वाताकूलित) है। साथ ही इसमें बच्चों को सिखाने के लिए 20 लैपटॉप लगाए गए हैं। और प्रशिक्षण के लिए एक बड़ी एलईडी भी लगी हुई है। साथ ही इन सुविधाओं का सुचारू रूप से चलाने के लिए बस में जनरेटर भी है। इसमें चलाए जाने वाले बेसिक कंप्यूटर कोर्स की अवधि 1 महीना है जबकि फीस 1000 रुपये है।

फिलहाल आरसीआईटी में इस्तेमाल हो रहे लैपटॉप, बस जल्द शुरू होने के आसार
रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव रविंद्र लोहान ने कहा कि कोरोना काल में बस हो गांव-गांव नहीं ले जाया गया। साथ ही हार्डवेयर से लैस होने के कारण और ट्रेनिंग के हिसाब से सिटिंग अरेंजमेंट होने के कारण इसका कोई और इस्तेमाल करना अभी संभव नहीं था, बस में जो लैपटॉप लगाए गए थे वह रेडक्रॉस के आरसीआईटी सेंटर में इस्तेमाल किए जा रहे हैं जहां बच्चों को ऑनलाइन कंप्यूटर क्लास दी जा रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें