पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:सोसायटी प्रधान गिरफ्तार, 2 निरीक्षकों व एआर को 2-2 लाख देना भी कबूला

हिसार3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्लॉट के 2 अलॉटमेंट कार्ड बनवाने और रजिस्ट्री करवाने का फर्जीवाड़ा

सदर थाना पुलिस ने प्लॉट के 2 अलॉटमेंट कार्ड और रजिस्ट्री करवाने के आरोप में साकेत कालोनी वासी नरेश को गिरफ्तार किया है। इसकी पूछताछ में कोऑपरेटिव सोसायटी के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा मिलीभगत और फर्जी काम करने के लिए 2-2 लाख रुपये लेने का खुलासा हुआ है।

पुलिस को कोऑपरेटिव सोसायटी के सब रजिस्ट्रार संजय ने शिकायत देकर दी हिसार शांति सहकारी गृह समिति लिमिटेड के प्रधान और सदस्यों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए पत्र लिखा था। 20 जनवरी 2018 को सदर थाना में 2 महिलाओं सहित 8 के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी।

शिकायत में लिखा था कि सोसायटी ने सेक्टर 16-17 वासी पवन शर्मा के नाम 15 प्लॉट अलॉट किए थे। इन्हें बाद में कैंसिल कर दिया था। पवन शर्मा ने मामले बारे कोऑपरेटिव सोसायटी में शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसकी जांच करके पुन: प्लॉट की अलॉटमेंट के अादेश दिए थे। इस दौरान 1 प्लॉट के 2 अलॉटमेंट कार्ड व फर्जीवाड़े से रजिस्ट्री की बात सामने आई थी, जिसमें कोऑपरेटिव सोसायटी के अधिकारियाें और कर्मियों की मिलीभगत मिली थी।

पवन शर्मा ने अपने बालसमंद रोड स्थित श्री श्याम मार्केट के प्लॉट नंबर 66 के 2 अलॉटमेंट कार्ड पेश किए थे। बताया कि इनमें से एक कार्ड 26 दिसंबर 2014 को जारी किया था। 21 जून 2017 को इस प्लॉट का अलॉटमेंट कार्ड कविता के नाम जारी हुआ था। जांच अधिकारी विपिन कुमार ने बताया कि मामले की जांच की। आरोपी सोसायटी प्रधान नरेश ने सेशन कोर्ट में जमानत याचिका लगाई थी, जिसे खारिज कर दिया था। इसे गिरफ्तार करके पूछताछ की।

आरोपी ने बताया कि कोऑपरेटिव सोसायटी के निरीक्षक मंजीत लौरा, मानता और असि. रजिस्ट्रार सुधीर से मिलीभगत करके फर्जीवाड़ा किया था। रजिस्ट्री के लिए तीनों को 2-2 लाख रुपये दिए थे। बकायदा, नरेश को पुलिस शिनाख्त के लिए कोऑपरेटिव सोसायटी लेकर गई थी, जहां पर मंजीत लौरा को पहचानकर उक्त काम के लिए रुपये देने की बात कही थी। इन्होंने प्लॉट नंबर 66 को पहले पवन शर्मा के नाम अलॉटमेंट कार्ड बनाया और फिर सरकार की अनुमति के बिन फर्जी कार्ड बनाकर कविता के नाम दोबारा अलॉटमेंट पत्र दे दिया।

नियम से हटकर प्रस्ताव पास करके प्लाट नंबर 66 पवन के नाम से कैंसिल कर दिया था। पुलिस ने सोसायटी पदाधिकारी व सदस्य राजकुमार, रेखा, जितेंद्र, नरेंद्र, रामनिवास, रविंद्र, ममता और कविता के विरुद्ध पहले धारा 420,467,468,471,120बी,34 के तहत केस दर्ज किया था। इसकी जांच के पश्चात अन्य कोऑपरेटिव सोसायटी के अधिकारियों व कर्मचारियों की संलिप्तता मिलने पर अन्य धाराएं जोड़ी थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें