सोनाली मर्डर की जांच के लिए रिसॉर्ट पहुंची CBI:टीम ने कमरे की वीडियोग्राफी करवाई, स्टाफ के बयान भी किए दर्ज

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोनाली मर्डर केस में सीबीआई की टीम ने अपनी जांच शुरू कर दी है। शनिवार को सीबीआई की टीम ग्रैंड लियोनी रिसॉर्ट में पहुंची। जहां पर सोनाली आरोपी सुधीर सांगवान और सुखविंद्र के साथ ठहरी हुई थी।

टीम के साथ फॉरेंसिक की टीम भी थी। सीबीआई ने स्टाफ के बयान दर्ज किए। साथ ही कमरे की अंदर और बाहर की वीडियोग्राफी भी की। सीबीआई की टीम गोवा पुलिस की जांच टीम से भी बातचीत करेगी, जिन्होंने इस मामले की इंवेस्टिगेशन की। साथ ही हिसार में आई दो सदस्यीय टीम से संपत्ति के डॉक्यूमेंट और सोनाली की तीन डायरियां भी अपने कब्जे में लेगी।

सोनाली के भाई रिंकू ढाका ने बताया कि शुक्रवार को फतेहाबाद के भूथन कला गांव में जब टीम आई थी तो हमने उनके समक्ष पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी उपलब्ध करवाने की मांग रखी। जिस पर सीबीआई टीम ने कहा कि अभी इस मामले को हैंडओवर किया गया है। वे अपने उच्च अधिकारियों तक उनकी मांग को पहुंचा देंगे। जैसे ही उनके आदेश होंगे तो वह उपलब्ध करवा दी जाएगी।

बता दें कि सीबीआई भूतथन कलां में गई और सोनाली के परिवार से मुलाकात की। टीम ने परिवार को जांच में शामिल करने की बात कही थी। इस टीम में डीएसपी राजेश कुमार तथा इंस्पेक्टर ऋषिराज शामिल थे।

गोवा पुलिस ने सीडी देने से किया था इंकार

सोनाली फोगाट के परिजनों को गोवा पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट की वीडियोग्राफी देने से इंकार कर दिया था। गुरुवार शाम को सोनाली के भाई रिंकू ढाका ने गोवा पुलिस के अंजुमा पुलिस स्टेशन इंस्पेक्टर को फोन किया।

रिंकू ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के दौरान वीडियोग्राफी की सीडी की डिमांड की, लेकिन इंस्पेक्टर ने कहा कि ये केस अब सीबीआई को हैंडओवर हो गया है और आप अब सीबीआई से ही वीडियोग्राफी की सीडी ले। रिंकू ने बताया कि नियमानुसार वीडियोग्राफी की दो सीडी बननी थी, एक सीडी पुलिस के पास रहनी थी और दूसरी गोवा पुलिस ने हमें उपलब्ध करवानी थी।

23 अगस्त को हुई थी हत्या

सोनाली हत्याकांड में 5 आरोपी है। सोनाली की 23 अगस्त को गोवा में मौत हुई थी। सोनाली अपने पीए सुधीर सांगवान और सुखविंदर सांगवान के साथ गोवा गई थी। गोवा पुलिस ने सोनाली के भाई रिंकू की शिकायत पर उसके सुधीर सांगवान और सुखविंदर के खिलाफ हत्या और एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। जबकि क्लब संचालक एडविन नुनिस, दत्ता प्रसाद और रमाकांत मासूपा के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। सोनाली के परिजन इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। जिसके बाद गोवा सरकार ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर सीबीआई जांच करवाने की मांग की थी।