पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • The Company That Laid More Than 900 Streets, Sewerage And Water Lines In Satrade Did Not Complete A Single Street.

बड़ा सवाल:सातराेड में 900 से ज्यादा गलियां, सीवरेज और पानी लाइन डालने वाली कंपनी ने एक भी गली नहीं की पूरी

हिसारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सातराेड में पहुंचे नगर निगम के अधिकारियाें के समक्ष समस्या रखते हुए ग्रामीण - Dainik Bhaskar
सातराेड में पहुंचे नगर निगम के अधिकारियाें के समक्ष समस्या रखते हुए ग्रामीण
  • गलियां पक्की करने काे लेकर निगम का आठ कराेड़ का टेंडर मगर नहीं हाे पा रहा काम

नगर निगम के वार्ड 11 के सातराेड खास और खुर्द के लाेगाें ने शुक्रवार काे नगर निगम के टेक्निकल अधिकारियाें व अमरूत प्राेजेक्ट के तहत सीवरेज व पानी की लाइन डालने वाली एजेंसी के अधिकारियाें काे बुलाया। ग्रामीणाें ने पूर्व पार्षद राजपाल मांडू के नेतृत्व में अधिकारियाें काे माैका मुआयना कराया। उन्हाेंने अधिकारियाें से कहा कि ये एजेंसी गांव की 900 गलियाें में से काेई एक गली दिखा दे जिसमें काम पूरा हाे चुका है।

उन्हाेंने कहा कि यहां लाेगाें कैसे जी रहे हैं अधिकारियाें काे समझना चाहिए। नगर निगम की टेक्निकल विंग के अधिकारी एक्सईएन संदीप धुंधवाल व एक्सईएन संदीप सिहाग ने लाेगाें काे आश्वासन दिया कि जल्द समस्या का समाधान कराएंगे। उन्हाेंने कहा कि गलियाें काे पक्का करने के लिए कराेड़ाें रुपये के टेंडर लग चुके हैं। वर्क ऑर्डर भी दिए जा चुके हैं। जैसे जैसे सड़काें पर सीवरेज व पानी की लाइन का काम पूरा हाेता जाएगा, गलियां पक्की करने काम साथ साथ शुरू हाे जाएगा। अधिकारियाें ने आश्वासन दिया कि पहले फिरनी पक्की कराई जाएगी।

जहां कनेक्शन वहां से निकाली पाइप लाइनें

ग्रामीणाें ने माैके पर अधिकारियाें काे दिखाया कि जहां सीवरेज के घराें से कनेक्शन करने का स्थान छाेड़ा गया था उसी लाइन पर पाइप लाइन दूसरी डाल दी गई। उन्हाेंने कहा कि काेई भी काम ठीक ढंग से नहीं किया गया। लाेग आखिर कब तक इस तरह की परेशानी झेलते रहेंगे। वे हाल ही में कमिश्नर अशाेक कुमार गर्ग से भी मिले थे। उन्हाेंने भी आश्वासन दिया था कि काम जल्द हाेगा।

चार महीने पर ज्वाइंट कमिश्नर पहुंची थी। उस वक्त हमने कहा था कि हमारे गांव की फिरनी तैयार करवा दाे। मैडम ने ठेकेदार से कहा कि लिखित में दे दाे। ठेकेदार ने लिखित में भी दे दी लेकिन इसके बाद भी ठेकेदार ने पानी की लाइन नहीं डाली। अधिकारी पता नहीं क्याें एक्शन नहीं ले पा रहे। हमने अधिकारियाें काे 28 जून तक का अल्टीमेटम दिया है अगर सातराेड के लाेगाें काे राहत नहीं मिली ताे हम हर हाल में आंदाेलन करेंगे।'' -राजपाल मांडू, पूर्व पार्षद।

गलियाें काे पक्का करने काे लेकर हमने टेंडर कर वर्क ऑर्डर दिया हुआ है। सीवरेज लाइन डालने का काम लगभग पूरा हाे चुका है। पानी की लाइन डालने वाली एजेंसी के काम में दिक्कत है। हमने एजेंसी काे कहा कि वह लिखकर दे कि कब तक काम पूरा हाे पाएगा। गांव की फिरनी का काम पूरा कराया जाएगा।'' संदीप धुंधवाल, एक्सईएन नगर निगम।

खबरें और भी हैं...